हजारों जिंदगी खतरे में डाल बिना गार्ड के दौड़ी स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस

हजारों जिंदगी खतरे में डाल बिना गार्ड के दौड़ी स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस

कानपुर (जेएनएन)। रेलवे ने नई दिल्ली से दरभंगा जा रही स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एक्सप्रेस में सफर कर रहे हजारों यात्रियों की जान खतरे में डाल दी। ट्रेन को टूंडला से कानपुर तक करीब 250 किलोमीटर बिना गार्ड ब्रेकवैन के लाया गया।

दिल्ली से ट्रेन सोमवार रात 8.35 बजे के अपने तय समय से सात घंटे विलंब से सुबह 3.30 बजे रवाना हुई। पांच बजे अलीगढ़ से रवाना हुई और रास्ते में गार्ड ब्रेकवैन में तकनीकी खराबी आ गई। टूंडला में गाड़ी रोककर गार्ड ब्रेकवैन हटाया गया और धीमी गति से कानपुर के लिए रवाना कर दिया। टे्रन मंगलवार को शाम सात बजे कानपुर पहुंची। यहां ट्रेन में मालगाड़ी का ब्रेकवैन लगाकर रवाना किया गया।

क्या कहता है नियम 
करीब 260 किमी तक ट्रेन बिना ब्रेकवैन के चली जबकि नियम कहता है कि बिना गार्ड ब्रेकवैन के ट्रेन आगे नहीं बढ़ाई जा सकती। ट्रेन स्टाफ ने बताया कि इसकी जानकारी अधिकारियों को दे दी गई थी। वह नजर रखे हुए थे लेकिन ट्रेन खतरे की पटरी पर ही दौड़ रही थी। कानपुर में मालगाड़ी का ब्रेकवैन लगाकर ट्रेन के सामान्य गति से रवाना किया गया।

आपात स्थिति के लिए है गार्ड ब्रेकवैन
हर ट्रेन में दो ब्रेकवैन होते हैं, एक इंजन के साथ और दूसरा सबसे पीछे गार्ड ब्रेकवैन। दोनों ब्रेकवैन के प्रेशर मीटर से वैक्यूम चेक करने के बाद ट्रेन आगे बढ़ाई जाती है। आपात स्थिति होने पर गार्ड ब्रेक से ट्रेन रोकते हैं।

तकनीकी खराबी के कारण टूंडला में ट्रेन का ब्रेकवैन काटा गया। कानपुर में मेन ब्रेकवैन न मिलने पर मालगाड़ी का ब्रेकवान लगाकर ट्रेन को रवाना किया गया। ब्रेक में कोई खराबी नहीं थी।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Regional