कोख में बेटियों के हत्यारोपी डॉक्टर के साथ आए BJP विधायक, यही है ‘बेटी बचाओ’ की हकीकत ?

कोख में बेटियों के हत्यारोपी डॉक्टर के साथ आए BJP विधायक, यही है ‘बेटी बचाओ’ की हकीकत ?

गर्भ में शिशु का लिंग जांच करना गैरकानूनी है जिस पर रोक लगाना सरकार की पहली जिम्मेदारी है लेकिन अलीगढ़ में इसी भाजपा सरकार के विधायकों ने इस गैर कानूनी काम करने वाले डॉक्टर का बचाव किया ।

राजस्थान से आए एक जांच दल ने अलीगढ में डॉक्टर दंपत्ति को लिंग भ्रूण जांच करते हुए पकड़ लिया तो डॉक्टर का बचाव करने के लिए दो बीजेपी विधायक संजीव राजा और अनिल पाराशर दखल देने पहुंच गए ।

इन विधायकों ने राजस्थान से आई जांच टीम के काम में बाधा पहुंचाते हुए अल्ट्रासाउंड मशीन को सील करने से रोका, जबकि जांच दल का दावा है कि उन्होंने इस डॉक्टर दंपत्ति को भ्रूण लिंग जांच करते हुए पकड़ा है ।

जब स्थानीय पुलिस डॉक्टर शर्मा और सील की  गई अल्ट्रासाउंड मशीन को लेकर पुलिस स्टेशन पहुंचती है तो बीजेपी के दोनों विधायक भी वहां पर पहुंच गए और रात के 2:00 बजे तक बैठे रहे ।

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के अनुसार, अलीगढ़ के डीएम ऋषिकेश भाष्कर ने कहा कि हमने विधायकों को मनाने की कोशिश किया कि कानूनी कार्यवाही करने दीजिए लेकिन उन्होंने सुनने से मना कर दिया । साथ ही दावा किया कि जांच दल ने इन्हें लिंग जांच करते हुए रंगे हाथों पकड़ा था ।

हालांकि इस मामले में डॉक्टर शर्मा का कहना है कि टीम जबरदस्ती उनके अस्पताल में घुस आई और उनकी डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर मशीन को सीज कर दिया ।

पुलिस थाने पहुंचे MLA अनिल पाराशर ने दावा किया कि डॉक्टर को झूठे केस में फंसाया जा रहा है और उन्होंने पुलिस वालों से ही सवाल किया कि तुम डॉक्टर साहब को कैसे गिरफ्तार कर सकते हो। साथ ही अनिल पाराशर ने कहा कि डॉक्टर जयंत शर्मा की पिताजी भारतीय मजदूर संघ के बड़े नेता थे ।

गौरतलब है कि भारतीय मजदूर संघ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की मजदूर इकाई है।

एक तरफ नरेंद्र मोदी समेत तमाम भाजपा नेता बेटी बचाने की बात कहेंगे दूसरी तरफ उसी भाजपा के विधायक भ्रूण हत्या को बढ़ावा देने वाले काम लगे  डॉक्टरों का बचाव कर रहे हैं ,पुलिस और जांच दल को अपना काम नहीं करने दे रहे हैं।

अगर जनप्रतिनिधि ही ऐसी आराजकता पर  उतर आएंगे तो फिर कानून व्यवस्था का क्या होगा।

Courtesy: boltahindustan.

Categories: India

Related Articles