रामदेव की जमीन पर RTI के तहत सूचना देना पड़ा भारी, 2 अधिकारियों का रातों-रात किया ट्रांसफर

रामदेव की जमीन पर RTI के तहत सूचना देना पड़ा भारी, 2 अधिकारियों का रातों-रात किया ट्रांसफर

साल के शुरुआती महीने मार्च में योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि के भूमि आवंटन पर सार्वजनिक आरटीआई बनाना महंगा पड़ गया। ख़बर है दो सूचना अधिकारियों का रातों रात ट्रांसफर कर दिया। वजह सिर्फ इतनी थी इन लोगों के आरटीआई की मांग पर जनता को जानकारी प्राप्त करने में मदद की थी।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक नागपुर में इस साल मार्च के महीने में फूड पार्क के लिए राज्य सरकार द्वारा बाबा रामदेव को सस्ते दामों में जमीन उपलब्ध कराने के मामले में नई जानकारी सामने आई है।

पतंजलि जमीन विवाद

गौरतलब है कि महाराष्ट्र सरकार ने पतंजलि आयुर्वेद को 1 करोड़ रुपये प्रति एकड़ के भाव वाली जमीन सिर्फ 25 लाख रुपये एकड़ के भाव में दी थी। जहां ऋषिकेश की तरह नागपुर में भी 600 एकड़ जमीन में फूड पार्क बनाना चाहती है।

मगर इस डील का विरोध अफसर विजय कुमार का तबादला हो गया सीनियर अधिकारियों और फाइनैंशल रिफॉर्म्स के प्रिंसिपल सेक्रटरी विजय कुमार ने ‘प्राइज वार’ के इस मुद्दे पर सवाल उठाया था।

ऐसा माना जा रहा है कि ये कार्रवाई अधिकारियों को आरटीआई का जवाब देने के खिलाफ की गई।

Courtesy: boltahindustan

Categories: India

Related Articles