डेरा समर्थक के घर 12 दिन रही थी हनीप्रीत, वहीं डॉक्युमेंट्स का बैग छिपाया: पुलिस

डेरा समर्थक के घर 12 दिन रही थी हनीप्रीत, वहीं डॉक्युमेंट्स का बैग छिपाया: पुलिस

पंचकूला. पंचकूला दंगों की जांच कर रही एसआईटी ने एक और गुरमीत सिंह को गिरफ्तार किया है। यह डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम नहीं, बल्कि हनीप्रीत इंसां को 12 दिन तक पनाह देने वाला शख्स है। इसी ने करोड़ों की प्रॉपर्टी और लेन-देन के डॉक्युमेंट्स का बैग छिपाया था। ये वही बैग हैं जिन्हें एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ईडी) के अफसर लेकर गए हैं। एसीपी मुकेश मल्होत्रा की टीम ने गुरमीत को बुधवार देर रात पंजाब से गिरफ्तार किया। उसने पंजाब के मुक्तसर डिस्ट्रिक्ट के ठांठेवाली में हनीप्रीत को 12 दिन तक छिपाकर रखा था। वह खुद भी वहीं का है। गुरुवार को पंचकूला कोर्ट में किया जाएगा पेश…

– गुरमीत की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उससे गाड़ी में ही पूछताछ शुरू कर दी थी। जिससे कुछ बातों का खुलासा हुआ है।
– असल में ईडी की टीम को पंचकूला पुलिस ने जो दो बैग दिए हैं। उनमें डेरा और डेरा प्रमुख की करोड़ों की प्रॉपर्टी से जुड़ी जानकारी के डॉक्यूमेंट्स, करोडों के लेन-देन और फर्म बनाकर बिजनेस करने की जानकारी है।
– हनीप्रीत अपने साथ कुल चार बैग लेकर चल रही थी। इनमें से दो बड़े बैग डॉक्यूमेंट्स से भरे थे, दो में कपड़े और जरूरत का दूसरा सामान था।

हनीप्रीत ने कहा था- ये मेरे पर्सनल डॉक्यूमेंट्स हैं

– सूत्रों के मुताबिक, डॉक्यूमेंट्स वाले बैग के ऊपर हनीप्रीत इंसां ने कपड़े रखे थे, ताकि किसी को इसकी भनक न लगे।
– पुलिस को जब यह बात पता चली तो हनीप्रीत ने कहा कि वो उसके पर्सनल डॉक्यूमेंट्स हैं। कुछ किताबें भी हैं, जिन्हें वो पढ़ती है।
हनीप्रीत को वकील से भी गुरमीत ने मिलवाया था

– गुरमीत ने हनीप्रीत इंसां को अपने पास रखा था। वह उसके साथ 12 दिनों तक रहा था। इस दौरान उसने किसी को भी उसके बारे में पता नहीं चलने दिया।
– सूत्रों के मुताबिक, हनीप्रीत इंसां को दिल्ली में वकील के पास भी वही ले गया था। हनीप्रीत को भेजा जाने वाला पेमेंट भी वही लेकर आता था।
– पुलिस के मुताबिक, आदित्य और पवन इंसा को जिन लोगों ने पनाह दी है, उनके खिलाफ भी मामला दर्ज किया जाएगा।

Courtesy:Bhaskar

Categories: India, Regional