UPA में 10 जनपथ सत्ता का केंद्र नहीं रहा, अब पावर सिर्फ मोदी के पास: राहुल

नई दिल्ली. राहुल गांधी ने कहा है कि यूपीए के शासन काल में 10, जनपथ सत्ता का केंद्र नहीं रहा। इसे समझने में कुछ गलतफहमी हुई। अब पावर सिमटकर नरेंद्र मोदी और पीएमओ के पास ही रह गई है। राहुल ने ये भी कहा कि पार्टी का भविष्य सत्ता के विकेंद्रीकरण (डिसेंट्रलाइजेशन) पर निर्भर करेगा। बता दें कि 10, जनपथ कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी का ऑफिशियल रेसीडेंस है। सत्ता का केंद्र तो पीएमओ बन गया है…
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक राहुल ने गुरुवार को कहा, “आज तो सत्ता का केंद्र पीएमओ बन गया है। हम बीजेपी के मंत्रियों की बात करते हैं। सुषमा स्वराज और कई अन्य मंत्रियों के पास कोई पावर नहीं है। ताकत केवल प्रधानमंत्री के पास सिमटकर रह गई है। बीजेपी के सरकार चलाने का मूलभूत तरीका कांग्रेस से अलग है।”
– यूपीए के वक्त सत्ता किसके पास थी, इस सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा,
“10 जनपथ कभी सत्ता का केंद्र नहीं रहा। लोग इसे ठीक से समझ नहीं पाए।”

हमारे यहां एक्सपीरियंस का सम्मान होता है

– राहुल गांधी ने प्रणब मुखर्जी और मनमोहन सिंह का एग्जाम्पल देते हुए कहा, “आने वाले वक्त में कांग्रेस की सरकारों की बागडोर युवा हाथों में होगी। हमारी सरकार में युवा चेहरे ज्यादा होंगे। लेकिन हमारे यहां एक्सपीरियंस का सम्मान होता है। हम पुराने लोगों के बुद्धि-कौशल का सपोर्ट लेते रहेंगे।”
– “भविष्य में कांग्रेस की सरकार ज्यादा विकेंद्रित (डिसेंट्रलाइज्ड) होगी। ये ऐसी सरकार होगी जिसमें कुछ हाथों में ही सत्ता नहीं होगी, जैसा पिछली सरकार में हुआ था।”

शादी जब होगी, तब होगी

– कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को पीएचडी एक्सीलेंस अवॉर्ड 2017 में शरीक हुए। यहां उनसे बॉक्सर विजेंद्र सिंह ने सवाल पूछा कि भैया! आप शादी कब करेंगे? इस पर राहुल ने जवाब दिया, “मैं डेस्टिनी में बिलीव करता हूं। जब होगी…होगी।”
– विजेंद्र ने पूछा था, “मैंने कभी किसी पार्लियामेंट मेंबर और एमएलए को कोई स्पोर्ट्स खेलते नहीं देखा। सेलिब्रिटीज फुटबॉल-क्रिकेट खेल लेते हैं। अगर आप प्रधानमंत्री बनते हैं तो भारत में किस तरह से स्पोर्ट्स का डेवलपमेंट करेंगे। ये पहला सवाल है। नंबर टू कि मैं और मेरी वाइफ हमेशा ये बात करते हैं कि राहुल गांधी भैया शादी कब करेंगे? मैंने उससे कहा कि प्रधानमंत्री बनकर शादी करने जाएंगे, तब की तो बात ही और होगी। इस सवाल का जवाब जानने के लिए सब इंतजार कर रहे हैं।”
– राहुल गांधी बोले, “ये बहुत पुराना सवाल है। मैं डेस्टिनी में विश्वास करता हूं। जब होगी.. होगी। जो आपने स्पोर्ट्स के बारे में बोला है, उसमें मैं शामिल नहीं हूं। मैं एक्सरसाइज, रनिंग, स्वीमिंग करता हूं। एकिडो में मैं ब्लैकबेल्ट हूं। मैं करता रहता हूं, लेकिन पब्लिकली इन चीजों के बारे में नहीं बोलता हूं। मेरी जिंदगी में स्पोर्ट्स है और हमेशा रहेगा। नॉर्मली मैं रोज एक घंटा स्पोर्ट्स को देता हूं। ये और बात है कि पिछले 4 महीने से मैंने नहीं किया है। उससे पहले मैंने हर रोज स्पोर्ट्स को वक्त दिया है।”
Courtesy:Bhaskar
Categories: Politics

Related Articles