शर्मनाक : यूपी में पुलिस ने दलित गर्भवती महिला को मारी लात, तड़प-तड़प कर हुई पीड़िता की मौत

शर्मनाक : यूपी में पुलिस ने दलित गर्भवती महिला को मारी लात, तड़प-तड़प कर हुई पीड़िता की मौत

उत्तरप्रदेश के हालात वहां की जनता के लिए दिन-प्रतिदिन बिगड़ते जा रहे हैं। राज्य में भाजपा की सरकार आई तो थी जनता को भयमुक्त महौल देने के वादे के साथ लेकिन राज्य सरकार के मंत्री से लेकर पुलिस तक जनता पर कहर ढाहने पर जुटी है।

यूपी पुलिस पर दलित गर्भवती महिला की हत्या का आरोप लगा है। मामला बाराबंकी का है जहां पुलिस अवैध शराब बनाने वालों की धरपकड़ के लिए पहुंची थी। पीड़ित परिवार इंसाफ मांग रहा है वहीं आला अधिकारी कुछ भी कहने से बचते नज़र आ रहे हैं।

असंद्र थाने के मानपुर मकोहिया गांव में पुलिस अवैध शराब बनाने वालों को पकड़ने पहुंची थी। दबिश से घबरा कर पुरुष भाग गए लेकिन गर्भवती महिला रुचि भाग न सकी। आरोप है कि पुलिस ने रुचि के पेट में लात मारी। मृतक लात खाकर ज़मीन पर गिरी और तड़प-तड़प कर मर गई।

महिला की मौत के बाद पुलिस मामले को दबाने में लगी है। घटना स्थल पर पुलिस के आला अधिकारी पहुंचें और मामले की लीपापोती करने लगें। पुलिस की इतनी असंवेदनशीलता के बावजूद भी रामसनेहीघाट सर्किल के सीओ सुशील कुमार सिंह और एसडीएम राहुल यादव इस पूरे प्रकरण में पुलिसकर्मियों की गलती मानने को तैयार नहीं हैं।

बता दें, कि पिछले कुछ महीनों से यूपी पुलिस पर इस तरह के आरोप लग रहे हैं। इससे पहले भी यूपी की ही एक होमगार्ड महिला ने आरोप लगाया था कि पुलिसकर्मियों ने उसके बेटे को सड़क पर उसी के सामने मोबाइल चोर बताकर इतना मारा की वो मर गया।

Courtesy: boltahindustan

 

Categories: Crime