अमेरिका में ‘जुमलेबाजी’ जारी लेकिन प्रदेश सुरक्षित नहीं, MP में गैंगरेप, शिकायत लेकर भटकती रही पीड़िता

अमेरिका में ‘जुमलेबाजी’ जारी लेकिन प्रदेश सुरक्षित नहीं, MP में गैंगरेप, शिकायत लेकर भटकती रही पीड़िता

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। सिविल सर्विस की तैयारी कर रही एक लड़की जब हबीबगंज स्टेशन के पास से गुजर रही थी तो 4 लड़कों ने उसके साथ घिनौनी वारदात को अंदाज दिया।

रेप करने के बाद लड़के पीड़िता की हत्या करना चाहते थे लेकिन लड़की को मरा हुआ समझ कर चारों मौक़े से फ़रार हो गए।

जब बेटी के साथ हुई घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए फैमिली भोपाल पुलिस के पास पहुंची तो उन्हें दूसरे थाने का मामला बताकर चलता कर दिया गया। बल्कि नियम अनुसार रेप का केस कही पर दर्ज हो सकता है।

रेप जैसी घटना को बुरी तरह से झेल चुकी पीड़िता और उसका परिवार कभी एमपी नगर थाने जाता तो कभी हबीबगंज थाने के चक्कर लगता। इसके बाद किसी ने परिवार वालों से कहा कि ये मामला जीआरपी थाने का है। जीआरपी वालों ने मामले को फ़ौरन संज्ञान में लिया और लड़की को मेडिकल जांच कराने के बाद केस दर्ज किया।

लड़की के बयान के बाद 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपियों की पहचान गोलू बिहारी, राजेश, रमेश और अमर के तौर पर की गई है और आरोपियों की पहचान गोलू बिहारी, राजेश, रमेश और अमर के तौर पर लड़की के बयान के बाद 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

कैसे पकड़े गए आरोपी

एमपी नगर से हबीबगंज थाना जाते वक्त पीड़िता और उसके पिता एक कॉम्प्लेक्स के पास कुछ देर के लिए रुक गए।

वो घटनास्थल के लिए जा रहे थे। तभी पास की एक झुग्गी में रहने वाले  गोलू पर नजर पड़ गई। बेटी ने पिता से इशारा कर बताया की ये उन्ही तीनों में से है जिसने उसके साथ रेप जैसी घटना को अंजाम दिया उसके माता-पिता ने मिलकर आरोपी को पकड़ लिया। उसे लेकर हबीबगंज थाने पहुंचे।

यहां पूरा वाक्या बताया तो पुलिस ने उससे पूछताछ शुरू कर दी। टीआई रवींद्र यादव के मुताबिक, कुछ देर बाद ही एक टीम उसके दूसरे साथी को पकड़ कर ले लाई। उससे लड़की का मोबाइल फोन और कान के बूंदे भी मिल गए। विक्टिम और उसके माता-पिता को उसे लेकर मौके पर पहुंचे। जीआरपी को वहीं बुलाया।

इतनी बड़ी वारदात होने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मामलें की निंदा की है। साथ ही कहा है कि चिह्नित अपराधों की श्रेणी में रखकर फास्ट ट्रैक कोर्ट में ट्रायल कराया जाएगा। एक पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया गया है। जो भी दोषी होंगे, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Courtesy: boltahindustan

Categories: Crime

Related Articles