गुजरात चुनाव: मनमोहन सिंह करेंगे दौरा, GST और नोटबंदी पर साधेंगे निशाना

गुजरात चुनाव: मनमोहन सिंह करेंगे दौरा, GST और नोटबंदी पर साधेंगे निशाना

अहमदाबाद
गुजरात और हिमाचल में होने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस जीएसटी और नोटबंदी जैसे मुद्दों को अजेंडा बनाकर चुनाव प्रचार की रणनीति पर काम कर रही है। इसी रणनीति के तहत ही गुजरात में चुनाव रैलियों में कांग्रेस हर बार इन मुद्दों को ही भुना रही है। साथ ही दोषपूर्ण जीएसटी और नोटबंदी को नुकसानदेह बताकर कांग्रेस चर्चा के लिए पूर्व वित्तमंत्रियों को भी निमंत्रण भेज रही है। पी. चिदंबरम, यशवंत सिन्हा के बाद अब कांग्रेस पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का गुजरात में एक दिन का दौरा प्लान कर रही है।

खबर के अनुसार पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह गुजरात में एक दिन का चुनाव प्रचार करेंगे। वह यहां जीएसटी को दोषपूर्ण बताने के साथ नोटबंदी और जीएसटी की खामियों पर चर्चा करेंगे। मनमोहन सिंह मंगलवार को अहमदाबाद स्थित कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। वह यहां दोषपूर्ण जीएसटी का असर और बिना सलाह लिये नोटबंदी पर अपनी बात रखेंगे। वह पहले भी इन मुद्दों पर सरकार का विरोध कर चुके हैं।

मनमोहन सिंह का यह दौरा कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के पूर्वनियोजित ब्लैक डे मनाने से एक दिन पहले होगा। कांग्रेस और अन्य विपक्ष दल 8 नवंबर को काला दिवस मनाकर नोटबंदी का यह कहते हुए विरोध करेंगे कि इससे कई युवाओं की नौकरियां चली गईं और व्यापारियों को भी नुकसान झेलना पड़ा। वहीं कांग्रेस इस कैंपेन के साथ जीएसटी का मुद्दा भी उठाने पर विचार बना चुकी है।

ऐसा कहा जा रहा है कि जीएसटी की वजह से गुजरात के व्यापारियों को काफी नुकसान झेलना पड़ा है। इसी सिलसिले में राहुल गांधी बुधवार को सूरत में होंगे जहां वह इससे पहले 3 नवंबर को भी रैली कर चुके हैं। कांग्रेस की लगातार रैलियां इस बात की गवाह हैं कि इस बार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस जीएसटी और नोटबंदी को भुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती।

संसद में भी उठाया था मुद्दा
संसद में भी मनमोहन सिंह नोटबंदी को लेकर तीखी टिप्पणी कर चुके हैं, उन्होंने नोटबंदी को संगठित तरीके से लूट का दर्जा दिया था। वहीं सोमवार को भी मनमोहन सिंह ने सोमवार कांग्रेस मुख्यालय में हुई बैठक के दौरान जीएसटी पर चिंता ज़ाहिर की। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार द्वारा जीएसटी व्यवस्था को लागू करने में बरती गई खामियों के कारण रोज़गार और व्यवसाय समाप्त हुए हैं। बैठक में मनमोहन सिंह ने जीएसटी को गलत ढंग से लागू करने के कारण अर्थव्यवस्था विशेषकर लघु एवं मझोले उद्योगों पर पड़ने वाले दुष्प्रभावों का भी ज़िक्र किया था।
Courtesy: NBT

Categories: India

Related Articles