एशियाई चैंपियनशिप: कोरियाई बॉक्सर को हराकर मैरी कॉम ने जीता 5वां गोल्ड मेडल

एशियाई चैंपियनशिप: कोरियाई बॉक्सर को हराकर मैरी कॉम ने जीता 5वां गोल्ड मेडल

भारतीय दिग्गज महिला बॉक्सर एमसी मैरी कॉम ने एशियन चैंपियनशिप का खिताब अपने नाम कर लिया है। उन्होंने 48 किलो लाइट फ्लाइवेट वर्ग के फाइनल में नॉर्थ कोरिया की हियांग मी किम को एकतरफा 5-0 से हराया। फाइट के दौरान मैरी विपक्षी बॉक्सर पर पूरी तरह हावी रहीं और पॉइंट जुटाने का मौका नहीं दिया। इस तरह इस टूर्नमेंट में उन्होंने 5वां गोल्ड मेडल अपने नाम किया। एशियाई चैंपियनशिप में यह ओवरऑल उनका छठा मेडल है। जबकि 2014 के एशियन गेम्स के बाद पहला अंतरराष्ट्रीय गोल्ड मेडल है।

इससे पहले इस 34 वर्षीय बॉक्सर के नाम 4 गोल्ड और एक सिल्वर था। उन्होंने इस टूर्नमेंट में 2003, 2005, 2010 और 2012 में गोल्ड मेडल जीता थे, 2008 में उन्हें सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा था। रियो ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाई नहीं कर पाने वाली मैरी कॉम ने रिंग में एक बार फिर जोरदार वापसी की है।

बता दें कि लंदन ओलिंपिक की ब्रॉन्ज मेडल विनर ने सेमीफाइनल में जापान की सुबासा कोमुरा को एकतरफा 5-0 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया था, जबकि क्वॉर्टरफाइनल में चीनी ताइपे की मेंग चिए पिन को हराया था। राज्यसभा सांसद 35 बरस की मैरी कॉम 5 साल 51 किलो में भाग लेने के बाद 48 किलोवर्ग में लौटी हैं।

 

फिटनेस की वजह से जीता खिताब
खिताबी जीत के बाद मैरी ने बताया कि वह किस तरह अपनी फिटनेस की वजह खिताब अपने नाम करने में कामयाब रहीं। उन्होंने कहा- मैं हमेशा से यह जानती थी कि अगर मैं फिट रहूंगी तो गोल्ड मेडल मेरे कब्जे में रहेगा। मैंने खुद को फिट रखा और रिजल्ट सामने है। मैं अब बेहतर महसूस कर रही हूं। मुझे विश्वास था कि मैं फाइनल अपने नाम करने में सफल रहूंगी।
Courtesy: NBT
Categories: Sports