गुजरात चुनाव में BJP के ‘विकास मॉडल’ की खुल रही पोल, अहमदाबाद में लोगों ने लगाए पोस्टर, विकास नहीं तो वोट नहीं

गुजरात चुनाव में BJP के ‘विकास मॉडल’ की खुल रही पोल, अहमदाबाद में लोगों ने लगाए पोस्टर, विकास नहीं तो वोट नहीं

गुजरात में बीजेपी का नारा है ”હું વિકાસ છું, હું ગુજરાત છું” यानि मैं ”विकास हूं, मैं गुजरात हूं”

बीजेपी इस नारे के मदद से ये बताना चाहती है कि गुजरात में हमने गुजरात में हद से ज्यादा विकास कर दिया है, इतना विकास कर दिया है कि गुजरात का मतलब ही विकास समझा जाए।

लेकिन ये एक बहुत बड़ा फरेब है, चुनावी जुमला है, झूठ है… क्योंकि अहमदाबाद जैसे शहरी इलाकों में जनता बीजेपी के कार्यकाल से इतनी ज्यादा नाराज है कि वो मतदान का बहिष्कार करने की चेतावनी दे रहे हैं।

सोचने वाली बाते है अगर गुजरात में विकास हुआ होता तो वहां की जनता बड़े बड़े पोस्टर, बैनर लगाकर चुनाव के बहिष्कार करने की चेतावनी क्यों देती?

राजस्तान पत्रिका में प्रकाशित एक खबर के मुताबिक, ना सिर्फ ग्रामीण इलाकों बल्कि अहमदाबाद जैसे विकासशील शहर के कुछ इलाकों में लोग चुनाव का बहिष्कार कर रहे हैं। दस्क्रोई विधानसभा के निकोल और कठवाड़ा के इंदिरानगर हुडको की सोसाइटियों में भी चुनाव बहिष्कार के बैनर दिखाए दे रहे हैं।

निकोल-कठवाडा रोड पर सेंवथ डे स्कूल मार्ग पर सत्याग्रह सोसायटी, मेघ मल्हार रेसिडेंसी जैसे एक दर्जन सोसायटी और फ्लैटों के सामने चुनाव बहिष्कार के बैनर लगाए गए हैं।

सोसायटी और फ्लैटवासियों का कहना है कि पिछले तीन चार वर्षों से सड़कें खस्ताहाल हैं। बारिश के मौसम में पानी भर जाता है, जिससे मच्छर पनपते हैं। जगह-जगह गड्ढे् हैं, लेकिन प्रशासन ध्यान नहीं देता।

चुनाव के वक्त राजनीतिक पार्टियों के नेता वोट मांगने आते हैं उनको चेताने के लिए जहां सत्याग्रह सोसायटी के गेट के सामने बैनर लगाए गए हैं, जिसमें खस्ताहाल पड़ी सड़क का निर्माण कार्य पूर्ण करो और सड़क…., लाइट और बिजली नहीं तो वोट नहीं लिखा हुआ है।

Courtesy: boltahindustan

Categories: India

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*