गुजरात चुनाव: उम्मीदवारों की पहली सूची आते ही भाजपा में पड़ी फूट, नाराज़ नेताओं ने दिया इस्तीफा

गुजरात चुनाव: उम्मीदवारों की पहली सूची आते ही भाजपा में पड़ी फूट, नाराज़ नेताओं ने दिया इस्तीफा

गुजरात विधानसभा चुनाव भाजपा के लिए मुश्किल होते जा रहे हैं। 22 साल से राज्य में शासन कर रही भाजपा जनता का गुस्सा तो झेल ही रही है और अब पार्टी के भीतर दरार भी पड़नी शुरू हो गई है। शुक्रवार को भाजपा ने चुनाव के लिए 70 उम्मीदवारों की पहली सूची निकाली लेकिन टिकट बटवारे को लेकर पार्टी से नाराज़ नेताओं ने कल ही इस्तीफा देना शुरू कर दिया। मामला इतना बढ़ गया कि स्वयं अमित शाह को आधी रात तक मामला सुलझाने के लिए रुकना पड़ा।

देर रात तक पार्टी दफ्तर में रुके अमित शाह

अमित शाह शुक्रवार देर रात तक गुजरात भाजपा के दफ्तर में मौजूद रहे। बताया जा रहा है कि इस दौरान वह डैमेज कंट्रोल की हर मुमिकन कोशिश करते रहे। हालांकि, उनकी कोशिश क्या रंग लाती है, ये अभी देखना होगा। बता दें कि पहली सूची आने के बाद शाम तक ही पार्टी में इस्तीफे का सिलसिला शुरू हो गया था।

इन नेताओं ने दिया इस्तीफा

टिकट की घोषण होने के बाद भरुच ज़िला पंचायत के सदस्य वल्लभ पटेल ने भाजपा से इस्तीफा दे दिया। अंकलेश्वर सीट से वल्लभ पटेल ने भी पार्टी से टिकट मांगा था। दशरथ पुवार ने ज़िला भाजपा महामंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है।

वडोदरा में भी दिनेश पटेल को टिकट दिये जाने से पार्टी में बगावती सुर खड़े होने शुरू हो गये हैं। पादरी ज़िला पंचायत और तहसील पंचायत के नेता कमलेश पटेल ने भी पार्टी छोड़ दी है। वहीं वडोदरा ज़िला महामंत्री चैतन्य सिंह झाला ने भी पार्टी को इस्तीफा पकड़ा दिया है।

कांग्रेस से आए नेता भी नाराज़

हाल ही में कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए भोलाभाई गोहिल भी नाराज़ हैं। उन्होंने जसदण सीट से टिकट मांगा था, लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिला। जबकि वो इस सीट से कांग्रेस के विधायक रह चुके हैं। इतना ही नहीं गोहिल ने राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग की थी, लेकिन इस सीट से भरत बोगरा को टिकट दिया गया। बताया जा रहा है कि नाराज़ गोहिल आज भाजपा प्रदेशाध्यक्ष जीतु वाघानी से मुलाकात करेंगे।

 

Courtesy: boltahindustan.

Categories: India

Related Articles