गुजरात में 22 सालों के विकास के बावजूद BJP का बुरा हाल, जगह-जगह सभाओं में तोड़फोड़ शुरू

गुजरात में 22 सालों के विकास के बावजूद BJP का बुरा हाल, जगह-जगह सभाओं में तोड़फोड़ शुरू

गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। पहले ही राज्य में पार्टी जनता के गुस्से के सामना कर रही है और अब टिकट बटवारे के बाद उसे अपने घर में ही लोगों के आरोप झेलने पड़ रहे हैं।

पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने आरोप लगाया है कि भाजपा के आलाकमान ने 9 करोड़ रुपए लेकर एक बाहरी उद्योगपति को टिकट बेचा है।

गुजरात चुनाव के पहले चरण के नामांकन के आखिरी दिन ही सत्ताधारी भाजपा की अंदरखाने चल रही बगावत खुलकर सामने आ गई है। आरोप लगाने वाले एक पूर्व मंत्री समेत भाजपा के कई वरिष्ठ नेता शामिल हैं। पूर्व मंत्री रंजीत सिंह झाला के भाजपा छोड़ने के कारण पार्टी को शर्मिंदगी झेलनी पड़ रही है।

झाला ने भाजपा के आलाकमान पर आरोप लगाते हुए कहा कि बाहरी व्यक्ति धांजी पटेल को सुरेंद्रनगर ज़िले की वाधवान सीट से उम्मीदवार बना दिया गया है।

झाला का कहना है कि, “ मैंने अपने लिए पार्टी से टिकट नहीं मांगा था, लेकिन पैसे लेकर किसी बाहरी व्यक्ति को टिकट दिए जाने को मैं सहन नहीं कर सकता।” इस सीट से पहले वर्षा दोषी विधायक थे, लेकिन उनका टिकट काटकर धांजी पटेल को उम्मीदवार बनाया गया है।

इससे पहले तक चर्चा थी कि पार्टी प्रवक्ता आई के जडेजा को वाधवान से टिकट मिलेगा, लेकिन पार्टी ने मौका आने पर उन्हें टिकट देने से इंकार कर दिया। जडेजा के टिकट न मिलने पर उनके समर्थकों ने पार्टी मुख्यालय में अमित शाह के सामने प्रदर्शन भी किया था।

दरअसल, 9 दिसंबर को होने वाले पहले दौर के चुनाव के लिए उम्मीदवारों के नामों के ऐलान के साथ ही भाजपा में बगावत खुलकर सामने आ गई है और पार्टी के कई नेता विरोध पर उतर आए हैं और इस्तीफे दिये जा रहे हैं।

Courtesy: boltahindustan

Categories: India

Related Articles