मोदी सरकार मौजूदा वित्त वर्ष में EPFO ब्याज दर में कटौती कर सकता है

मोदी सरकार मौजूदा वित्त वर्ष में EPFO ब्याज दर में कटौती कर सकता है

नई दिल्ली
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ईपीएफओ मौजूदा वित्त वर्ष के लिए भविष्य निधि जमाओं पर ब्याज दरको घटा सकता है। ईपीएफओ ने 2016-17 में अपने 4.5 करोड़ अंशधारकों को 8.65 प्रतिशत ब्याज दिया।

श्रम मंत्रालय में वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार ईपीएफओ ब्याज दर घटा सकता है। उन्होंने कहा, ‘बॉन्ड्स पर निम्न आय और ईटीएफ निवेश सीधे अंशधारकों के खातों में डालने की योजना के मद्देनजर ईपीएफओ 2017-18 के लिए भविष्य निधि जमाओं पर रिटर्न की दर में कटौती कर सकता है।’

 अधिकारी के अनुसार हालांकि ईपीएफओ को मौजूदा वित्त वर्ष के लिए आय अनुमानों को गणना अभी करनी है। इसी के आधार पर मौजूदा वित्त वर्ष के लिए अंशधारकों के खाते में डाले जाने वाले ब्याज का फैसला होगा। इससे पहले गुरुवार को ईपीएफओ ने इक्विटी निवेश के मूल्यांकन और एकाउंटिंग के लिए एक एकाउंटिंग नीति को मंजूरी दी।
Courtesy: NBT
Categories: Finance

Related Articles