गुजरात चुनाव: कांग्रेस नेता ने ”सबूत” देकर लगाया आरोप- मोरबी की सभा में नरेंद्र मोदी ने बोला झूठ

गुजरात चुनाव: कांग्रेस नेता ने ”सबूत” देकर लगाया आरोप- मोरबी की सभा में नरेंद्र मोदी ने बोला झूठ

कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने चित्रलेखा मैगजीन का वह कवर शेयर किया है, जिसमें इंदिरा और आरएसएस स्‍वयंसेवकों की तस्‍वीरें छपी थीं।

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनाव प्रचार में व्‍यस्‍त हैं। बुधवार (29 नवंबर) को उन्‍होंने मोरबी में जनसभा को संबोधित किया। यहां उन्होंने कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी को घेरने के लिए उनकी दादी व पूर्व पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का जिक्र किया। मोदी ने 1979 के माछू बांध बाढ़ हादसे का हवाला देते हुए कहा, ”मुझे याद है कि इंदिरा गांधी यहां आई थीं और चित्रलेखा(स्थानीय पत्रिका) ने उनकी तस्वीर प्रकाशित की थी जिसमें उन्होंने रूमाल से अपनी नाक ढंक रखी थी, वह दुर्घंध से बचने की कोशिश कर रही थीं। एक अन्य तस्वीर भी छपी थी जिसमें आरएसएस के कार्यकर्ता शव ले जा रहे थे।” प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘हमारे यहां कठिन समय में सहायता करने वालों को याद रखा जाता है।” उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने सौराष्ट और कच्छ में नर्मदा का पानी लाने के लिए बहुत मेहनत की। हालांकि कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने मोदी के इस दावे पर सवाल खड़े किए हैं।

खेड़ा ने ट्विटर पर चित्रलेखा मैगजीन का वह कवर शेयर किया है, जिसमें इंदिरा और आरएसएस स्‍वयंसेवकों की तस्‍वीरें छपी थीं। खेड़ा ने जो तस्‍वीर ट्वीट की है उसमें संघ के स्‍वयंसेवक मुंह पर मास्‍क पहन रखा है। संक्रमण की आशंका वाली जगहों पर मास्‍क पहनना जरूरी होता है ताकि उसके फैलने की संभावना कम से कम हो जाए। खेड़ा ने ट्वीट में कहा है, ”मोदी जी, एक और झूठ? यह रहा चित्रलेखा मैगज़ीन का वो कवर। पढ़िये क्या लिखा है और यह भी देख लीजिए कि जनसंघ व आरएसएस के मित्रों ने भी मुँह पर रुमाल बांधा है।”

प्रधानमंत्री ने मोरबी में बड़ी जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह हैंड-पंप मुहैया कराने जैसी बातों का श्रेय लेती हैं जबकि भाजपा नर्मदा जल योजना जैसे बड़े काम कर रही है। मोरबी में पहले चरण में नौ दिसंबर को मतदान होना है। गुजराती में दिये गये अपने भाषण में उन्होंने कहा, ”वर्तमान में, कुछ तथा कथित स्मार्ट लोग, कुछ नये अर्थशास्त्री उभर आये हैं जो लोगों को दिगभ्रमित कर रहे हैं।”

राहुल गांधी द्वारा हिंदी फिल्म ‘शोले’ के खलनायक को याद करते हुए वस्तु एवं सेवा कर को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ कहने कहा जवाब देते हुए मोदी ने कहा, ‘‘जिन्होंने अपने पूरे जीवन में सिर्फ लोगों को लूटा है, वह सिर्फ डकैतों की बातें ही कर सकते हैं।”

Courtesy: Jansatta

Categories: India

Related Articles