निठारी कांड : CBI कोर्ट ने किया इंसाफ, मोनिंदर और कोली को सुनाई फांसी की सज़ा

निठारी कांड : CBI कोर्ट ने किया इंसाफ, मोनिंदर और कोली को सुनाई फांसी की सज़ा

गाजियाबाद। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की स्थानीय अदालत ने निठारी रेप और हत्याकांड के एक मामले में शुक्रवार को सुरेंद्र कोली और मनिंदर सिंह पंधेर को फांसी की सजा सुनाई। दोनों आरोपियों को कोर्ट ने नौकरानी से रेप और हत्या के मामले में दोषी करार दिया है। बता दें इससे पहले भी दोनों आरोपियों को सीबीआई की विशेष अदालत 24 जुलाई को दिए अपने फैसले में फांसी की सज़ा सुना चुकी है।

सीबीआई की विशेष अदालत ने कोर्ट में दोनों को धारा 302 और धारा 364 के तहत दोषी ठहराया है। मामले में आखिरी सुनवाई बुधवार को हुई थी। बता दें कि गाजियाबाद की डासना जेल में बंद सुरेंद्र कोली बुधवार को सीबीआई के विशेष न्यायाधीश पवन कुमार तिवारी की अदालत में पेश हुआ। अंतिम बहस में उसने पांच मिनट तक सीबीआई जांच पर अंगुली उठाई।

क्या है निठारी कांड मामला

नोएडा का निठारी कांड देश के सबसे ज्यादा जघन्यतम हत्याकांडों में से एक है। 2005-2006 में सामने आए इस हत्याकांड के खुलासे ने सबको हैरान कर दिया था। इस मामले का खुलासा तब हुआ जब नोएडा सेक्टर 31 के पास निठारी गांव में एक के बाद एक बच्चे गायब होने लगे। एक साल तक यह सिलसिला चलता रहा।

Courtesy: puridunia.

Categories: Crime

Related Articles