गुजरात में दूसरे फेज के लिए आज थम जाएगा चुनाव प्रचार, 93 सीटों पर 14 दिसंबर को डाले जाएंगे वोट

गुजरात में दूसरे फेज के लिए आज थम जाएगा चुनाव प्रचार, 93 सीटों पर 14 दिसंबर को डाले जाएंगे वोट

अहमदाबाद. गुजरात विधानसभा चुनाव में कुल 182 में से बाकी बचीं 93 सीटों पर 14 दिसंबर को वोटिंग होनी है। यह वोटिंग 14 जिलों में होगी। इसके लिए चुनाव प्रचार आज शाम थम जाएगा। इससे पहले 9 दिसंबर को पहले फेज में 68 फीसदी वोटिंग हुई थी। बता दें कि 18 दिसंबर को नतीजों का एलान किया जाएगा।

कुल सीटें: 182

दूसरे फेज में वोटिंग: 93
कुल वोटर: 2 करोड़ 22 लाख 96 हजार 867

पोलिंग स्टेशन: 25 हजार 558

कुल वोटिंग मशीन: 28 हजार 114

कुल कैंडिडेट्स 782, 69 महिलाएं

दूसरे फेज में कुल कैंडिडेट्स: 782, इनमें से 69 महिलाएं और 344 निर्दलीय हैं।

सबसे ज्यादा कैंडिडेट्स: 25-मेहसाणा सीट पर 32 कैंडिडेट्स

सबसे कम कैंडिडेट्स: 130 झालोद (एसटी) 2 कैंडिडेट्स

दरियापुर सबसे छोटी असेंबली सीट

– एरिया के हिसाब से देखें तो इस फेज में सबसे छोटी असेंबली सीट दरियापुर है। इसका कुल इलाका सिर्फ 6 वर्ग किलोमीटर है।

– सबसे बड़ी असेंबली सीट की बात करें तो यह राधनपुर है। इसका कुल इलाका 2544 वर्ग किलोमीटर है।

– लिम्खेड़ा में सबसे कम 1 लाख 87 हजार 245 वोटर हैं। वहीं, घाटलोडिया में सबसे ज्यादा 3 लाख 52 हजार 316 वोटर्स हैं।

ये हैं 14 जिले: बनासकांठा, पाटन, अहमदाबाद, मेहसाणा, गांधीनगर, खेडा, वडोदरा, साबरकांठा, दाहोद, पांच महल, छोटा उदयपुर, आणंद, महिसागर और अरावली।

– इस फेज में बीजेपी, कांग्रेस, एनसीपी, जद(यू), सपा, आप, बसपा और शिवसेना समेत 55 दलों के कैंडिडेट मैदान में हैं।

कुछ बड़ी पार्टियों के कुल कैंडिडेट्स

पार्टी कैंडिडेट्स
BJP 91
कांग्रेस 75
ऑल इंडिया हिंदुस्तान कांग्रेस पार्टी 46
NCP 26
शिवसेना 17
बहुजन मुक्ति पार्टी 15
JDU 14
गुजरात जन चेतना पार्टी 13
सरदार वल्लभ भाई पटेल पार्टी 9
AAP 8
नवीन भारत निर्माण मंच 8

सुबह 8:00 से शाम 5:00 बजे तक होगी वोटिंग

– चीफ इलेक्शन ऑफिसर बीबी स्वैन ने बताया कि मतदान से 48 घंटे पहले प्रचार मंगलवार शाम को बंद हो जाएगा। मतदान 14 तारीख को सुबह आठ बजे से पांच बजे तक होगा।

सर्वे में BJP की मुश्किलें बढ़ीं, मैनिफेस्टो की जगह विजन डॉक्युमेंट ला सकती है

– विधानसभा चुनाव में इंटरनल फीडबैक और सर्वे से बीजेपी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। बीजेपी स्ट्रैटजी के तहत 28 नवंबर को घोषणा पत्र जारी करने वाली थी, लेकिन अब उसने इरादा बदल दिया है। ऐसा कहा जा रहा है कि वह मैनिफेस्टो की जगह गुरुवार या एक-दो दिन में विजन डॉक्युमेंट लाने पर विचार कर रही है। नरेंद्र मोदी इसे मंजूरी देंगे। प्रधानमंत्री अगर मंजूरी नहीं देते हैं तो बिना घोषणा पत्र के ही बीजेपी चुनाव लड़ेगी। बता दें कि कांग्रेस ने कुछ दिन पहले घोषणा पत्र जारी किया था, जिसमें किसानों को कई सुविधाएं देने की बात कही है।

Courtesy: Bhaskar

Categories: India

Related Articles