राहुल का इंटरव्यू दिखाने वाले न्यूज चैनलों और पत्रकारों को जेल भेजने की धमकी, कांग्रेस का आरोप- पीएम और सीएम के दफ्तर से आए फोन

राहुल का इंटरव्यू दिखाने वाले न्यूज चैनलों और पत्रकारों को जेल भेजने की धमकी, कांग्रेस का आरोप- पीएम और सीएम के दफ्तर से आए फोन

राहुल गांधी के इंटरव्यू के बाद बीजेपी में हड़बड़ाहट दिखने लगी है। कांग्रेस ने बीजेपी और प्रधानमंत्री कार्यालय पर चैनल प्रबंधन और मीडिया जगत को धमकाने का आरोप लगाया है।

13 दिसंबर को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का गुजराती चैनल पर एक इंटरव्यू दिखाया गया। इंटरव्यू में राहुल गांधी ने बीजेपी और पीएम मोदी पर कई मुद्दों को लेकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी एक पुरानी और मजबूत विचारधारा वाली पार्टी है, गुजरात में बीजेपी के पास कोई विजन नहीं है और मोदी ने गुजरात की जनता के सामने कोई भी विजन नहीं रखा। उन्होंने चुनावी रैलियों के दौरान अपनी बात की या फिर कांग्रेस के बारे में बोलते रहे लेकिन गुजरात के लिए उन्होंने कुछ नहीं कहा।

राहुल गांधी ने इंटरव्यू के दौरान गुजरात चुनाव में बीजेपी की हड़बड़ाहट और बड़ी हार का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि गुजरात चुनाव में कांग्रेस एकतरफा जीत रही है, जिससे बीजेपी घबरा गई है। राहुल गांधी का कहना तब और सही साबित हुआ जब इंटरव्यू लेने वाले चैनल को बीजेपी और प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से धमकी देने का खबर सामने आई।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री कार्यालय से गुजरात के स्थानीय चैनल को राहुल का इंटरव्यू दिखाने पर फोन करके डराया और धमकाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि चैनल प्रबंधन और मीडिया जगत को गुजरात के सीएम विजय रूपाणी द्वारा धमकी दी जा रही है, साथ ही जेल भेजने के नाम पर डराया जा रहा है।

रणदीप सुरजेवाला ने चुनाव आयोग से अपील करते हुए कहा कि धमकी देने वालों पर चुनाव आयोग मुकदमा दर्ज करे। उन्होंने बीजेपी से सवाल पूछा, “पीएम नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव से एक दिन पहले कई चैनेलों को इंटरव्यू दिया था। क्या ये आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है।” चुनाव अयोग को इस बात का संज्ञान लेना चाहिए और बीजेपी को नोटिस भेजना चाहिए।

Courtesy: navjivanindia

Categories: India

Related Articles