हिमाचल चुनाव : सीएम उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष हारे

हिमाचल चुनाव : सीएम उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष हारे

हिमाचल प्रदेश में यूं तो बीजेपी सरकार बनाने के लिए करीब दो तिहाई बहुमत पाने में कामयाब रही, लेकिन उसके सीएम उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती हार गए।

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव-2017 के नतीजे सामने आने के बाद राज्य में सत्ता की बागडोर बीजेपी के हाथ में आ चुकी है, लेकिन मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार और प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष अपनी सीट बचाने में नाकाम रहे। बीजेपी के मुख्यमंत्री पद उम्मीदवार, दो बार के मुख्यमंत्री और बीजेपी सांसद अनुराग ठाकुर के पिता प्रेम कुमार धूमल को सुजानपुर सीट पर 2933 वोटों से शिकस्त का सामना करना पड़ा। इस सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार रजिंदर राणा ने उन्हें मात दी है। बीजेपी को अब हिमाचल प्रदेश के लिए नए मुख्यमंत्री चेहरे की तलाश करनी होगी।

2012 के चुनाव में निर्दलीय चुनाव जीतने वाले राणा इस सीट पर दोबारा जीत हासिल करने में कामयाब रहे हैं। राणा ने 2012 के चुनाव में 14166 मतों से जीत हासिल की थी। उन्हें किसी समय धूमल का करीबी कहा जाता था। धूमल ने इस चुनाव में अपनी सीट बदली थी। राणा एक समय में धूमल के चुनाव प्रबंधक थे और वह उनके परिवार से भलीभांति परिचित हैं।

धूमल ने अपने गृहनगर हमीरपुर में पत्रकारों से बातचीत में कहा, “राजनीति में किसी एक को हार, जबकि दूसरे को जीत का सामना करना होता है। हम सुजानपुर के लोगों को न्याय देने में सक्षम नहीं रहे और असफल साबित हुए। यह आत्ममंथन करने का समय है।”

धूमल ने अपनी हमीरपुर सीट पार्टी विधायक नरेंद्र ठाकुर के साथ बदल ली थी। ठाकुर ने हमीरपुर सीट पर जीत हासिल की है। हमीरपुर बीजेपी का गढ़ रही है। राजनीतिक समीक्षकों का कहना है कि धूमल और राणा के बीच यह प्रतियोगिता दिलचस्प थी। राणा बीजेपी से अलग हो गए थे।

वहीं बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ऊना विधानसभा सीट पर 3196 वोटों से हार गए हैं। इस सीट पर कांग्रेस के सतपाल सिंह रायजादा ने जीत दर्ज की है। सत्ती पिछले तीन चुनावों से इस सीट पर अजेय रहे थे। ऊना को बीजेपी का गढ़ भी कहा जाता था।

Courtesy: navjivanindia.

Categories: India