गुजरात में जीत कर भी हारी बीजेपी, हो रही राहुल गांधी की चर्चा

गुजरात में जीत कर भी हारी बीजेपी, हो रही राहुल गांधी की चर्चा

नई दिल्ली। गुजरात चुनाव में जीत के बाद भी विपक्ष हमलावर है। विपक्ष का कहना है कि बीजेपी भले ही चुनाव जीत गयी हो लेकिन जनता का विश्वास खो चुकी है इसलिए उसे इतनी काम सीटें मिलीं हैं। इसी कड़ी में केंद्र में भाजपा की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने भी तंज कसा है।

अपने मुखपत्र सामना के सम्पादकीय में शिवसेना ने लिखा है कि गुजरात में भले ही बीजेपी जीत गयी है लेकिन चर्चा तो राहुल गांधी की हो रही है। आपको बता दें कि गुजरात विधानसभा के 182 सीटों में से बीजेपी ने 99 सीट पर जीत हासिल की है तो वहीं 77 सीटों पर राहुल गांधी की कांग्रेस ने कब्ज़ा किया है।

शिवसेना ने सामना में लिखा है कि गुजरात में बीजेपी की जीत हुई है, जीत होने वाली ही थी। जश्न और ढोल पीटने की तैयारी पहले से शुरु हो गई थी पर जश्न मनाएं और मदहोश होकर नाचें, इतनी बड़ी जीत बीजेपी को मिली है क्या? आगे लिखा है कि जीत बीजेपी की हुई है, पर चर्चा राहुल गांधी की ओर से लगाई गई छलांग की हो रही है।

इतना ही नहीं सामना में आगे लिखा है कि गुजरात और हिमाचल प्रदेश की जीत के लिए हम बीजेपी का अभिनंदन करते हैं, इसके साथ ही कांग्रेस ने जो सफलता हासिल की है, वो भी महत्वपूर्ण है। गुजरात में बीजेपी को 150 सीटें मिलने का दावा किया जा रहा था लेकिन वो 100 का भी आंकड़ा नहीं छू पाई। एक वाक्य में नतीजे का अर्थ कहा जाए तो यही है कि हवा नहीं बदली, लेकिन हवा धीमी पड़ गई है।’’

शिवसेना ने कहा कि मचलती लहरें ठंडी हो गई हैं। बीजेपी मुश्किल से पास होकर भी डिस्टिंक्शन का दिखावा कर रही है। यह तस्वीर दयनीय है। देश के प्रधानमंत्री को भी आखिरकार गुजरात की अस्मिता का कार्ड खेलना पड़ा।

आपको बता दें कि गुजरात में बीजेपी 99 सीटें जीत कर सरकार बनने जा रही लेकिन 2012 के चुनाव केके मुकाबले बहोत कम आंकड़ा आया है। 2012 के चुनाव में बीजेपी को 115 और कांग्रेस को 61 सीटें मिली थीं। इसी वजह से बीजेपी की जीत की चर्चा कम राहुल गांधी की चर्चा ज्यादा हो रही है।

 

Courtesy: puridunia

Categories: India

Related Articles