नाराज नेताओं को तवज्जो देने के मूड में नहीं बीजेपी

नाराज नेताओं को तवज्जो देने के मूड में नहीं बीजेपी

गुजरात और हिमाचल प्रदेश में भले ही बीजेपी ने बहुमत हासिल कर लिया हो, लेकिन दोनों ही राज्यों में वर्तमान स्थिति बहुत बेहतर नहीं है। जहां एक तरफ गुजरात के उप मुख्यमंत्री खुद को कमजोर मंत्रालय दिए जाने को लेकर नाराज हैं, वहीं हिमाचल प्रदेश में पूर्व सीएम प्रेम कुमार धुमल भी सीएम पद को लेकर नाराज चल रहे हैं। ऐसे में पार्टी ने दोनों राज्यों में नाराज नेताओं को ज्यादा तवज्जो न देने का मूड बनाया है।
सूत्रों का कहना है कि बीजेपी अब इस बात को लेकर काफी हद तक सहमत है कि राज्य स्तर पर क्षेत्रीय नेताओं को लेकर वोटर्स में ज्यादा उत्साह नहीं है, वोटर्स नए लोगों को भी पसंद कर रहे हैं। ऐसे में बीजेपी नाराज नेताओं को ज्यादा तवज्जो देने के मूड में नहीं है और जरूरत के मुताबिक, संगठन और राज्य सरकारों में परिवर्तन होते रहेंगे।

गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन पटेल उन खबरों पर भी विराम लगाया है, जिनमें कहा जा रहा था कि वह पार्टी या मंत्री पद से इस्तीफा दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने पार्टी को अपनी चिंताओं से अवगत करा दिया है। सूत्रों का कहना है कि पटेल सौरभ पटेल को वित्त मंत्रालय दिए जाने से नाराज हैं। माना जा रहा है कि इससे पटेल समाज में सौरभ पटेल का दबदबा बढ़ेगा।

गुजरात बीजेपी के वरिष्ठ मंत्री नरोत्तम पटेल ने नितिन पटेल से मुलाकात की और साफ किया कि पार्टी पहले ही जाति और ऐसे मुद्दों को लेकर काफी संघर्ष कर चुकी है। इसी वजह से इस बार विधानसभा चुनावों में जीत का अंतर भी काफी कम हुआ है। सूत्रों का यह भी कहना है कि नितिन पटेल को यह संदेश भी दिया गया है कि वे सीएम विजय रुपाणी के साथ सहयोग करें। रुपाणी सभी जरूरी मुद्दों पर पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और पीएम मोदी से चर्चा के बाद ही फैसले ले रहे हैं। बताया जा रहा है कि रुपाणी के मंत्रिमंडल में 6 पटेल नेता हैं और पार्टी सभी को समान महत्व देना चाहती है।

वहीं बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने हिमाचल प्रदेश में भी नेताओं से कहा है कि पार्टी जयराम ठाकुर के समर्थन में है। साथ ही ठाकुर और धुमल समर्थकों को भी पार्टी के फैसलों का पालन करने को कहा गया है।

Categories: India

Related Articles