MP: मिड-डे मील में छात्रों को रोटी और नमक, पीने के लिए नाले का गंदा पानी

MP: मिड-डे मील में छात्रों को रोटी और नमक, पीने के लिए नाले का गंदा पानी

मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में सूबे की शिक्षा व्यवस्था को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है. यहां के ग्रामीण इलाके में छात्रों को मिड-डे मील के नाम पर रोटी और नमक दिया जाता है. प्यास लगने पर छात्रों को नाले का गंदा पानी पीना पड़ता है.

मामला जिले के राजनगर तहसील के सूरजपुरा ग्राम पंचायत का है. जहां प्राथमिक शाला के बच्चे पिछले कई वर्षों से ठंड में खुले में बैठकर पढ़ने के लिए मजबूर है. अब इस स्कूल को लेकर एक और चौंकाने वाला खुलासा हुआ है.

मिड-डे मील में छात्रों को रोटी के साथ नमक परोसा जा रहा है. वहीं, स्कूल में पेयजल का कोई स्त्रोत नहीं होने की वजह से बच्चे पास के खेत से गुजरने वाले गंदे नाले का पानी पीने को मजबूर है.

अतिथि शिक्षक संतोष अरजरिया ने बच्चों के पास के नाले से पानी की बात स्वीकारते हुए कहा है कि पेयजल का कोई स्त्रोत नहीं होने की वजह से बच्चे खेत से सिंचाई के लिए गुजरने वाले नाले का ही पानी पीते है.

वहीं, मामला सामने आने के बाद जिला मुख्यालय से लेकर राजधानी भोपाल तक हड़कंप मच गया है. कलेक्टर रमेश भंडारी ने कहा कि उन्होंने एक जांच समिति का गठन किया है. समिति की रिपोर्ट में मिड-डे मील में गड़बड़ी की बात सामने आई है. रिपोर्ट के आधार पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है.

राज्य की महिला एवं बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस ने कहा है कि उन्होंने कलेक्टर से बात की है. अनियमिताओं के लिए जिम्मेदार लोगों को हटा दिया गया है. साथ ही एक विशेष टीम का गठन किया गया है, जो राज्य के सभी जिलों में मिड-डे मील और अन्य व्यवस्था को मॉनिटरिंग करेगी.

Courtesy: news18

Categories: India

Related Articles

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*