हिमाचल में बीजेपी ने अपनाया ‘योगी मॉडल’, भाजपा नेताओं पर से ‘भ्रष्टाचार’ के केस हटाए

हिमाचल में बीजेपी ने अपनाया ‘योगी मॉडल’, भाजपा नेताओं पर से ‘भ्रष्टाचार’ के केस हटाए

हिमाचल प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद भाजपा के नेताओं को उसका फायदा मिलता दिख रहा है। ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ हिमाचल प्रदेश सरकार ने बुधवार को कैबिनेट मीटिंग के दौरान हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (एचपीसीए) के खिलाफ पांच भ्रष्टाचार के मामले वापस ले लिए हैं।

बता दें, कि हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल और वर्तमान में भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर तीन बार एचपीसीए के अध्यक्ष रह चुके हैं। वर्ष 2013 में एंटी करप्शन ब्यूरो ने धोखाधड़ी और फंड के दुरूपयोग के आरोप में एचपीसीए के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी।

आरोप यह था कि एचपीसीए ने एक पंजीकृत सोसाइटी को एक कंपनी के रूप में दिखाया। प्रेम कुमार धूमल की अगुवाई वाली सरकार ने क्रिकेट स्टेडियम के निर्माण के लिए ज़मीन आवंटित की थी। एक लक्ज़री रेज़ोर्ट, और कुछ सरकारी आवासीय क्वार्टरों को भी एचपीसीए को अधिक ज़मीन देने के लिए ध्वस्त कर दिया गया था।

एचपीसीए प्रमुख अनुराग ठाकुर, प्रेम कुमार धूमल ओए 8 अधिकारीयों समेत 18 लोगों के नाम एफआईआर में शामिल थे। उसी साल एचपीसीए के खिलाफ दो और एफआईआर दर्ज की गई थीं।

 

Courtesy: boltahindustan

Categories: India

Related Articles