अमेरिका की धमकी से पाक ने बदली चाल, आतंकियों के खिलाफ जारी किया फतवा

अमेरिका की धमकी से पाक ने बदली चाल, आतंकियों के खिलाफ जारी किया फतवा

इस्लामाबाद। धार्मिक उद्देश्य के लिये आत्मघाती विस्फोट और हिंसा करने वालों के खिलाफ बीते दिनों मंगलवार को पाक सरकार ने फतवा जारी किया है। यह फतवा इस्लामाबाद की इंटरनेशनल इस्लामिक यूनिवर्सिटी की देख-रेख में 1800 से ज्यादा इस्लामिक विद्वानों के दस्तखत से जारी किया है जिसे ‘पैगाम-ए-पाकिस्तान’ नाम दिया गया है। इसे इस्लामाबाद में हुए एक भव्य समारोह में जारी किया गया है।

बता दें, पाक के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने इस फतवे को जारी करते हुए वहां मौजूद जनसभा को संबोधित किया। उन्‍होंने कहा कि यह कदम इस बात को व्यक्त करता है कि पूरा देश इस मुद्दे पर बेहद गंभीर है। वहीं आतंकवादियों और इस्लामिक कट्टपंथियों का हवाला देते हुए उन्‍होंने कहा कि ‘मुझे भरोसा है कि इस्लाम की सच्ची शिक्षा के प्रकाश में किया गया यह निर्णय उनका हृदय परिवर्तन कर देगा और उनके उद्धार का मार्ग प्रशस्त करेगा।’

दरअसल, कुछ दिनों पहले ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान को अपनी धरती से पनपने वाले आतंकवादी समूहों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की चुतावनी दी थी। इसके बाद ही पाक ने इस मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए आतंकियों के खिलाफ फतवा जारी किया है।

वहीं पाक सरकार ने अपने एक बयान में कहा कि यह फतवा चरमपंथ और आतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान की कटिबद्धता का हिस्सा है। धार्मिक विद्वानों सांसदों, बुद्धिजीवियों और नीति निर्माताओं ने इसका समर्थन किया है। फतवे में सशस्त्र संघर्ष को देश, उसकी सरकार या सशस्त्र बलों के खिलाफ बताया गया है।

इसके अलावा यह भी कहा गया है कि य‍ह सरकार की जिम्‍मेदारी है कि उसे इस्लामिक संविधान के प्रावधान को लागू करना है लेकिन ऐसा करना इसके लिए बलों के प्रयोग को प्रतिबंधित करता है।

Courtesy: puridunia

Categories: International