दावोस में पीएम मोदी के भाषण पर राहुल गांधी ने साधा निशाना, ट्वीट कर पूछा गंभीर सवाल

दावोस में पीएम मोदी के भाषण पर राहुल गांधी ने साधा निशाना, ट्वीट कर पूछा गंभीर सवाल

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (डब्ल्यूईएफ) के मंच से पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण पर निशाना साधा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 23 जनवरी को दावोस में डब्ल्यूईएफ के मंच से दुनिया को संबोधित किया। दावोस में पीएम मोदी के भाषण के ठीक बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर उन पर निशाना साधा। राहुल ने अपने ट्वीट में पीएम मोदी से पूछा, “प्रधानमंत्री जी, आपका स्विट्जरलैंड में स्वागत है। कृपया, आप दावोस में लोगों को ये भी बताइए कि भारत की संपत्ति का 73 फीसदी हिस्सा सिर्फ एक प्रतिशत आबादी के हाथों में क्यों है? मैं आपके संदर्भ के लिए एक रिपोर्ट संलग्न कर रहा हूं।” कांग्रेस अध्यक्ष ने अपने दावे के समर्थन में अंतरराष्ट्रीय अधिकार समूह ‘ऑक्सफेम’ की रिपोर्ट भी शेयर की है।

अधिकार समूह ‘ऑक्सफेम’ ने अपना यह सर्वेक्षण दावोस में डब्ल्यूईएफ की शिखर बैठक शुरू होने से कुछ ही घंटे पहले जारी किया। राहुल गांधी ने इसी सर्वेक्षण को आधार बनाकर पीएम मोदी से सवाल किया। इस सर्वेक्षण में कहा गया है कि भारत में 2017 में पैदा की गई कुल संपत्ति का 73 फीसदी हिस्सा देश के सबसे अमीर एक फीसदी लोगों के पास है। सर्वेक्षण के निष्कर्ष प्रसिद्ध अर्थशास्त्री लुकास चांसेल व थॉमस पिकेटी के बीते साल प्रकाशित अध्ययन के समान है, जिससे इस सिद्धांत को बल मिला है कि उदारीकरण से अमीरों को बेहिसाब फायदा पहुंचा है और दूसरे लोग संघर्ष करते रहे हैं। ‘ऑक्सफेम’ के वार्षिक सर्वेक्षण को बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है और विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक में भी इस पर विस्तार से चर्चा होती है।

इससे पहले पीएम मोदी ने डब्ल्यूईएफ के उद्घाटन सत्र को संबोधित किया। अपने भाषण में पीएम ने भारत की आर्थिक नीतियों में सुधार का दावा करते हुए अपनी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की वजह से देश में निवेश के बेहतर अवसरों के पैदा होने की जानकारी दी। भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि की संभावनाओं पर चर्चा करते हुए मोदी ने कहा कि आखिरी बार 1997 में जब भारतीय प्रधानमंत्री दावोस की बैठक में आए थे तो भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) 400 अरब डॉलर से कुछ अधिक था। अब यह उसके छह गुणा से अधिक बढ़ चुका है। पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा के 1997 में डब्ल्यूईएफ में भाग लेने के बाद दो दशक में इसमें भाग लेने वाले मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं।

Courtesy: navjivanindia

Categories: India

Related Articles