रेप पीड़िता ने मोदी-योगी को भेजा खून से लिखा पत्र, कहा- न्याय नहीं मिला तो दे दूंगी जान

रेप पीड़िता ने मोदी-योगी को भेजा खून से लिखा पत्र, कहा- न्याय नहीं मिला तो दे दूंगी जान

लखनऊ: खुद के साथ हुए बलात्कार की टीस झेल रही उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले में रहने वाली एक छात्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खून से ख़त लिखकर न्याय की गुहार लगाई है। पीड़िता ने मोदी और योगी को लिखे इस पत्र में आरोप लगाया है कि आरोपियों की ऊंची पहुंच की वजह से पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहे हैं और आरोपी पक्ष मुकदमा वापस लेने के लिए उसे धमकी दे रहा है। इस पत्र में उसने कहा कि अगर उसे न्याय नहीं मिला तो वह आत्महत्या कर लेगी।

अपर पुलिस अधीक्षक शशि शेखर सिंह ने बताया कि बाराबंकी में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रही रायबरेली की एक युवती के पिता ने मार्च, 2017 में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि एक लड़का उनकी बेटी को परेशान करता है। उन्होंने बताया कि शिकायत में आरोप लगाया गया था कि आरोपी एक दिन जबरन उनकी बेटी को एक मकान में ले गया, और अपने एक मित्र की मौजूदगी में उसके साथ बलात्कार किया। तभी से वह छात्रा को ब्लैकमेल कर रहा है।

सिंह ने बताया कि लड़की के पिता की तहरीर पर पुलिस ने 24 मार्च 2017 को आरोपी युवकों दिव्य पांडेय और अंकित वर्मा के खिलाफ बलात्कार और अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज किया था।

उन्होंने बताया कि इसके बाद नौ अक्तूबर 2017 को युवती के पिता ने शहर कोतवाली में तहरीर देकर आरोप लगाया था कि उनकी दूसरी बेटी के नाम पर फेसबुक आइडी बनाकर किसी ने अश्लील सामग्री पोस्ट की है। पुलिस ने इस संबंध में आइटी एक्ट के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

सिंह ने कहा कि इस मामले में पुलिस को अभी तक विशेषज्ञ टीम की रिपोर्ट नहीं मिली है। अधिकारी ने कहा कि पुलिस को पीड़ित लड़की द्वारा खून से खत लिखे जाने के बारे में कोई जानकारी नहीं है। पुलिस अधीक्षक शिवहरि मीणा ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है।

Courtesy: puridunia.

Categories: India

Related Articles