यूपी की बलात्कार पीड़ित ने योगी-मोदी को खून से खत लिखकर मांगी मदद

यूपी की बलात्कार पीड़ित ने योगी-मोदी को खून से खत लिखकर मांगी मदद

रायबरेली में रेप और फेक फेसबुक आईडी बनाकर अश्लील पोस्ट डालने वाले आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने से परेशान छात्रा ने पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी को खून से खत लिख कर इंसाफ की गुहार लगाई है।

रायबरेली में रेप और फेक फेसबुक आईडी बनाकर अश्लील पोस्ट डालने वाले आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने से परेशान छात्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री को खून से खत लिखकर मदद की गुहार लगाई है। 20 जनवरी को रायबरेली की रहने वाली इस छात्रा ने खून से लिख पत्र में आरोप लगाया है कि आरोपियों की ऊंची पहुंच की वजह से पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है।

 

पीड़ित छात्रा ने आरोप लगाया है कि आरोपी पक्ष दबंग है और लगातार मुकदमा को वापस लेने की धमकी दे रहे है। उन्होंने खत में लिखा है कि अगर न्याय नहीं मिला तो वह खुदकुशी कर लेगी।

इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक शशि शेखर सिंह ने बताया कि पीड़ित छात्रा रायबरेली की रहने वाली है। वह बाराबंकी में इंजिनियरिंग की पढ़ाई कर रही थी। छात्रा के पिता ने एक लड़के के खिलाफ 24 मार्च 2017 में शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत में आरोप लगाया गया था कि आरोपी दिव्य पाण्डेय और अंकित वर्मा ने जबरन उनकी बेटी को एक मकान में ले गये उसके साथ बलात्कार किया। इसके बाद से वह छात्रा को ब्लैकमेल कर रहा है।

उन्होंने कहा कि 9 अक्टूबर 2017 को युवती के पिता ने शहर कोतवाली में एक और तहरीर देकर आरोप लगाया कि अब उनकी छोटी बेटी के नाम पर फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर किसी ने अश्लील सामग्री पोस्ट की है। पुलिस ने इस संबंध में भी अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

पीड़ित छात्र के पिता का आरोप है कि इस केस में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हूई है और पुलिस दबंगों के दबाव में काम कर रही है।

वहीं पुलिस अधीक्षक शिवहरि मीणा ने कहा कि पूरे मामले की जांच की जा रही है।

Courtesy: Navjivan

Categories: India

Related Articles