जो सरकार ‘करणी सेना’ को काबू नहीं पा रही है वो देश की ‘अर्थव्यवस्था’ क्या काबू कर पाएंगी

जो सरकार ‘करणी सेना’ को काबू नहीं पा रही है वो देश की ‘अर्थव्यवस्था’ क्या काबू कर पाएंगी

प्रधानमंत्री जब स्विटजरलैंड के दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में भाषण दे रहे थे ठीक उसी वक़्त उनके गृहराज्य में एक फिल्म के विरोध में मॉल को आग हवाले कर दिया गया।

ठीक उसी वक़्त पीएम मोदी ने दावोस के उद्धाटन समारोह में अपने भाषण में सुख समृधि और शांति की बात कर रहे थे यहां अहमदाबाद में पुलिस करणी सेना के लोगों से कैसे निपटा जाये इस सोच में पड़ी हुई थी।

पीएम मोदी ने अपने भाषण में न्यू इंडिया का ज़िक्र किया उन्होंने कहा हम ट्रान्सफर, रिफार्म और परफॉर्म पर दुनिया के बड़े देशों को भारत में बुला रहे थे। देश की अर्थव्यवस्था पर बड़े दावे कर रहें थे मगर ज़मीन पर में दोनों ही मामलों में यानी की अर्थव्यवस्था और सुरक्षा विफल हो चुके है।

रिज़र्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन की माने तो दुनियाभर के लिए पिछला साल 2017 काफी अच्छा रहा मगर सिर्फ भारत ही ऐसा देश था जो जीएसटी और नोटबंदी जैसी समस्या से भारी नुकसान झेल रहा था।

अब बात फिल्म पद्मावत की करें तो करणी सेना की करे तो सुप्रीम कोर्ट ने सेंसर बोर्ड पहले ही फिल्म को हरी झंडी दे चुका है। कोर्ट ने फैसले पर दोबारा विचार करने वालीं मध्य प्रदेश और राजस्थान सरकार की याचिका को भी खारिज कर दिया।

वही करणी सेना का दावा है कि ‘पद्मावत’ की रिलीज के खिलाफ राजपूत समाज की 1908 महिलाएं चित्तौड़गढ़ में जौहर करने के लिए रजिस्ट्रेशन करा चुकी हैं। पीएम मोदी के न्यू इंडिया में महिलाएं खुद को आग हवाले करने को तैयार है और बातें बड़ी बड़ी हो रही है सरकार को खुलेआम ठेंगा दिखाया जा रहा है।

सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात ये की विरोध के नाम पर तोड़फोड़ और आगजनी क्यों की जा रही है? वो भी ज्यादातर बीजेपी शासित राज्यों में कानून व्यवस्था को अपने जेब में रख करणी सेना क्या साबित करना चाहती है, क्या वो सविधान से ऊपर है या उन्हें देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संरक्षण प्राप्त है? दोनों ही सूरत में पीएम मोदी का न्यू इंडिया बनता हुआ नहीं दिख रहा है।

जीएसटी नोटबंदी के बाद ये तीसरा ऐसा मौका है जिसमें ये सवाल उठने लगे है जो सरकार ‘करणी सेना’ को काबू नहीं पा रही है वो देश की अर्थव्यवस्था क्या काबू कर पाएंगी।

Courtesy: boltahindustan.

Categories: India

Related Articles