गणतंत्र दिवस के दिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देशवासियों को लिखा खुला पत्र

गणतंत्र दिवस के दिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देशवासियों को लिखा खुला पत्र

नई दिल्ली। देश आज अपना 69वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। आज राजधानी में राजपथ पर 10 आसियान देशों के राष्ट्रध्यक्षों की ऐतिहासिक मौजूदगी में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ध्वजारोहण किया। इसके बाद वीर जवानों को सम्मानित किया गया। इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर देश की जनता से संविधान की रक्षा के अपने प्रण को दोहराने की अपील की है।

राहुल ने कहा कि संविधान हमारे गणतंत्र की अमूल्य थाती है

राहुल ने कहा कि संविधान हमारे गणतंत्र की अमूल्य थाती है। इसीलिए हम सब को एक व्यक्ति के रुप में संविधान को किसी तरह के खतरे से बचाने की अपनी उम्र भर के दायित्व को जीवंत बनाए रखना चाहिए। कांग्रेस अध्यक्ष के रुप में पहली बार देश के नागरिकों को 69वें गणतंत्र दिवस की बधाई देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि हम सब के लिए यह याद रखना बेहद जरूरी है कि न्याय, समानता और भाईचारा हमारे संविधान की बुनियाद है।

रक्षा करने की इससे ज्यादा जरूरत पहले कभी नहीं रही थी

राहुल ने नागरिकों को संबोधित अपने खुले पत्र में संविधान के बुनियादी आधारों न्याय और विचारों की स्वतंत्रता के अधिकार से जुड़ी चुनौतियों को भी रेखांकित किया। उन्होंने कहा हमारे युवा देश के इतिहास में संविधान के इन अमूल्य धरोहरों की रक्षा करने की इससे ज्यादा जरूरत पहले कभी नहीं रही थी।

कांग्रेस ने साधा निशाना

वहीं, इससे पहले गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह राजपथ पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बैठने की जगह को लेकर विवाद हो गया। दरअसल, कांग्रेस अध्यक्ष को गणतंत्र दिवस के समारोह के दौरान बैठने के लिए चौथी कतार में जगह दी गई है जिससे कांग्रेस में खासी नाराज़ थी। कांग्रेस को जब ये ख़बर मिली तब उन्होंने इसे ओछी राजनीति कररा दिया था।

Courtesy: puridunia

Categories: India

Related Articles