दिल्ली में सीलिंग पर AAP-बीजेपी में जमकर तकरार, सुप्रीम कोर्ट जाएगी केजरीवाल सरकार

दिल्ली में सीलिंग पर AAP-बीजेपी में जमकर तकरार, सुप्रीम कोर्ट जाएगी केजरीवाल सरकार

दिल्ली में जारी सीलिंग के मुद्दे पर सत्ताधारी आम आदमी पार्टी और बीजपी में जमकर राजनीति हो रही है. दोनों ही पार्टियों एक दूसरे को सीलिंग का जिम्मेदार बता रहे हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सीलिंग के मुद्दे पर उपराज्यपाल अनिल बैजल और केंद्र की सत्ताधारी बीजेपी पर निशाना साधा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सीलिंग पर तत्काल रोक के लिए दिल्ली सरकार इसी हफ्ते सुप्रीम कोर्ट जाएगी. सीएम केजरीवाल ने कहा, ‘हम कल या परसों ये कर देंगे.’

सीएम केजरीवाल ने मंगलवार सुबह मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, “दिल्ली में चारों तरफ त्राहि-त्राहि मची है. मैंने एलजी साहब (उपराज्यपाल) को 25 तारीख को चिट्ठी लिखी थी कि सीलिंग क्यों हो रही हैं. आप FAR (फ्लोर एरिया रेश्यू) बढ़ा दें, कंवर्जेंस चार्ज कम करें.”

उन्होंने कहा कि एमसीडी ने पिछले कुछ साल में कंवर्जन चार्ज के नाम पर 3000 करोड़ जुटाए, लेकिन वो पैसा जहां-तहां खर्च कर दिया गया.

मुख्यमंत्री ने कहा, “कल बीजेपी के रविंद्र गुप्ता ने मुझे चिट्ठी लिखी कि हम बीजेपी के सारे सांसद, विधायक और मेयर आपसे चर्चा करेंगे, मुझे खुशी हुई. उन लोगों ने सुबह आकर कहा कि हम खुले में चर्चा नहीं करेंगे.”

सीएम केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली सरकार सीलिंग को तत्काल रोकने के लिए इसी हफ्ते सुप्रीम कोर्ट जा रही है. हम कल या परसों ये कर देंगे. अगर मकड़ अभी प्रपोजल भेज दें, तो हम उसे लेकर 1 घंटे में सुप्रीम कोर्ट जाएंगे.”


बता दें कि इससे पहले मंगलवार सुबह दिल्ली बीजपी अध्यक्ष मनोज तिवारी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिलने सिविल लाइंस स्थित सीएम आवास पर पहुंचा था. हालांकि दोनों पार्टियों के बीच जारी विवाद थमता नहीं दिखा.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने यहां कहा, “दिल्ली में सीलिंग को लेकर पर सभी परेशान हैं. बीजेपी प्रतिनिधिमंडल इसी पर चर्चा के लिए यहां है. ये मीटिंग सारी मीडिया के सामने होगी. बंद कमरे की राजनीति ने देश का नुकसान किया है. आइए हम सब एक-एक मुद्दे पर चर्चा करते हैं, फिर सहमति हो जाने पर LG साहब (उपराज्यपाल अनिल बैजल) के पास जाएंगे.”

वहीं इस पर दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि पूरी दिल्ली सीलिंग से परेशान है. हमें खुले में मीटिंग से कोई समस्या नहीं, लेकिन आपने तो पूरी मीडिया बुला ली. आप हमें बता दीजिए 351 सड़कों पर नोटिफिकेशन क्यों नहीं आया.

इस दौरान वहां मौजूद कुछ आप कार्यकर्ताओं ने तिवारी का विरोध किया और उनसे भाषण बंद कर मुद्दे पर चर्चा करने का कहा. इस दौरान दोनों तरफ से नारेबाजी होने लगी. इससे नाराज़ मनोज तिवारी ने कहा कि इस तरह मीटिंग नहीं होती है और वह यह कहकर वहां से चले गए. इसके बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं ने थोड़ी देर तक सीएम आवास के बाहर धरना भी दिया.
Courtesy: news18

Categories: India