दीपिका पादुकोण की नाक काटने की धमकी देने वाले BJP नेता सूरज पाल अम्मू से पार्टी से दिया इस्तीफा

दीपिका पादुकोण की नाक काटने की धमकी देने वाले BJP नेता सूरज पाल अम्मू से पार्टी से दिया इस्तीफा

देश की राजधानी दिल्ली से सटे गुड़गांव की भोंडसी जेल से जमानत पर रिहा होने के एक दिन बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की हरियाणा इकाई के नेता व संजय लीला भंसाली की विवादास्पद फिल्म ‘पद्मावत’ का विरोध करने और अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की नाक काटने की धमकी देने वाले करणी सेना के नेता सूरजपाल अम्मू ने बुधवार (31 जनवरी) को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया।

न्यूज़ एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, अमू ने कहा कि, ‘‘मैं विवादित फिल्म पद्मावत को हर राज्य में प्रदर्शित करने की इजाजत देने के केंद्र और उच्चतम न्यायालय की कार्रवाई से दुखी हूं। इसका नतीजा हिंसा थी और राजपूत समुदाय के 12 करोड़ से ज्यादा लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई गई।’’

साथ ही उसने कहा कि, ‘‘मैं हैरान भी हूं कि कैसे हरियाणा और केंद्र सरकार ने इस पूरे विरोध को आतंकवाद और असामाजिकता का नाम दिया। मैंने हरियाणा बीजेपी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है और प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला को एसएमएस, ई-मेल, ट्वीट तथा फेसबुक के जरिए सूचित कर दिया है।’’

उसने कहा, ‘‘मैं रानी पद्मिनी के पवित्र राज्य की यात्रा करने के लिए राजस्थान आया हूं जहां मैंने बीजेपी से इस्तीफा देने का फैसला किया।’’ पुलिस को गुड़गांव में स्कूल बस पर हमले में भी उसकी भूमिका होने का शक है, इस बस में स्कूल के बच्चे सवार थे।

गौरतलब है कि, संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ के विरोध में बुधवार (24 जनवरी) को करणी सेना के समर्थकों ने गुरुग्राम में कई जगहों पर हंगामा और तोड़फोड़ किया गया। इसी दौरान सोहना रोड पर करणी सेना के कथित कार्यकर्ताओं ने एक स्कूल बस पर हमला कर दिया था।

स्कूल की बस पर तब पथराव किया था, जब उसमें बच्चे भी मौजूद थे। इस दौरान सहमे बच्चों ने सीट के पीछे छिपकर खुद को बचाया। घटना के बाद गुरुग्राम पुलिस ने 18 लोगों को गिरफ्तार किया और गुरुवार को कोर्ट में पेश करने के बाद उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

गौरतलब है कि, पुलिस ने 25 जनवरी को उसे गुड़गांव में ‘पद्मावत’ के विरोध में हुई हिंसा में उसकी संलिप्तता के बारे में पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था और अगले दिन अदालत ने उसे चार दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। बता दें कि, ‘पद्मावत’ रिलीज को लेकर सूरज पाल अम्मू काफी विवादों में रहे हैं। पद्मावत विरोध करते हुए अम्मू ने दीपिका की नाक काटने वाले को इनाम देने की घोषणा की थी, इसके बाद उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया गया था।

 

Courtesy: jantakareporter.

Categories: India

Related Articles