मध्य प्रदेश: दलित युवती को बेचने और उसके साथ दुष्कर्म के मामले में तीन महिलाओं समेत 6 लोग गिरफ्तार

मध्य प्रदेश: दलित युवती को बेचने और उसके साथ दुष्कर्म के मामले में तीन महिलाओं समेत 6 लोग गिरफ्तार

मध्य प्रदेश के खरगोन जिले की बलवाड़ा पुलिस ने 22 वर्षीय दलित युवती को तीन बार बेचने और उसके साथ दुष्कर्म के मामले में एक गिरोह की तीन महिलाओं समेत 6 लोगों को गिरफ्तार किया है।

न्यूज़ एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, बड़वाह के अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) मान सिंह ठाकुर ने आज बताया कि 22 वर्षीय युवती के अपहरण और उसको तीन बार बेचे जाने के मामले में राजस्थान के प्रतापगढ़ स्थित मैरिज ब्यूरो के कल्पेश जैन उसकी पत्नी रानू तथा एक अन्य व्यक्ति अनिल जैन और बलवाड़ा थाना क्षेत्र की गुंडा सूची में शामिल अंतिम शितोले, उसकी पत्नी दुर्गा और एक युवती मीरा को कल गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने बताया कि सभी आरोपियों को गुरूवार को न्यायालय में पेश किया गया जहां से तीनों महिलाओं को महिला जेलतथा शेष तीन आरोपियों की 12 फरवरी तक पुलिस रिमांड स्वीकृत हुई है। इस मामले में दो खरीददार लोकेश नन्दवाना और नवीन सिसोदिया तथा एक अन्य शिव शर्मा फरार हैं।

ठाकुर ने बताया कि तीन जून 2017 को बड़े भाई से नाराज होकर 22 वर्षीय युवती अपनी मौसी के घर पीथमपुर जाने के लिए निकली थी। इसी दौरान बस में उसका परिचित अंतिम शितोले से हुआ। वह उसे इंदौर ले गया, जहां से अनिल तथा अल्पेश जैन के साथ वह युवती को राजस्थान के प्रतापगढ़ ले गया।

उन्होंने बताया कि अंतिम ने वहां कथित तौर पर युवती के साथ दुष्कर्म किया और 50,000 रूपये में युवती को अनिल एवं अल्पेश जैन को बेच दिया। इसके बाद इन लोगों ने युवती को साढ़े चार लाख रुपए में नन्दवाना को बेच दिया। युवती नन्दवाना के साथ करीब ढाई महीने तक रही, नन्दवाना उसे वापस मैरिज ब्यूरो के संचालकों के पास छोड़ गया।

उन्होंने बताया कि इसके बाद अल्पेश, अनिल और रानू ने युवती को व्यवसायी नवीन सिसोदिया को चार लाख रूपये में बेच दिया। वहीं से युवती ने फोन कर पिता को यह जानकारी दी। युवती के पिता की शिकायत पर पुलिस अधीक्षक डी कल्याण चक्रवर्ती के निर्देशन में पुलिस ने छह आरोपियों को गिरफ्तार कर युवती को उनके कब्जे से छुड़ा लिया।

Courtesy: jantakareporter

Categories: Crime

Related Articles