इलाहाबाद में दलित युवक की हत्या पर बोले अखिलेश, लचर कानून व्यवस्था से प्रदेश की हालत ख़राब

इलाहाबाद में दलित युवक की हत्या पर बोले अखिलेश, लचर कानून व्यवस्था से प्रदेश की हालत ख़राब

इलाहाबाद में दलित छात्र दिलीप सरोज की हत्या पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बेहद दुःखद बताया हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश इस समय अपराधियों के हवाले है।

जहां एक ओर अपराधी बेखौफ हत्याएं कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर पुलिस एनकाउन्टर की आड़ में निर्दोषों को ठिकाने लगाने में जुटी है।

उन्होंने कहा कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय के विधि स्नातक का छात्र दिलीप सरोज की दबंगों द्वारा बेरहमी से कूच-कूच कर पीटने से मौत की घटना इस बात का प्रमाण है कि सरकार की कानून व्यवस्था ध्वस्त है।

पूर्व सीएम अखिलेश ने राज्य सरकार से मांग की है कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय के मृतक छात्र के परिवार को 50 लाख रूपए का मुआवजा दिया जाये।

अखिलेश ने कहा कि उत्तर प्रदेश में राज्य सरकार के दस महीने के कार्यकाल में पूरे प्रदेश में जंगलराज कायम हो गया है। आज ही मेरठ में महिला की हत्या बाद में उसके बेटे की हत्या, बुलंदशहर में दूध वाले को पीट-पीट कर घायल किया जाना, बरेली में तीन हत्या, नोएडा में पुलिस द्वारा हत्या, संगम नगरी में भूसा व्यापारी की हत्या जैसी घटनाओं से यह साबित हो रहा है कि बदमाश बेखौफ हो गये हैं। जनता का कानून व्यवस्था पर भरोसा ही नही रह गया है।

उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार को इलाहाबाद की घटना पर कार्यवाही करते हुये दोषियों को तत्काल गिरफ्तार कर कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए। प्रदेश में कानून-व्यवस्था चुस्त-दुरूस्त करने का काम भाजपा सरकार का है। मुख्यमंत्री अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी से बच नही सकते। उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार को जनता को जवाब देना पड़ेगा।

Courtesy: boltahindustan.

Categories: Politics