पीएनबी में 11,300 करोड़ का महाघोटाला: केजरीवाल, कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा

पीएनबी में 11,300 करोड़ का महाघोटाला: केजरीवाल, कांग्रेस ने मोदी सरकार को घेरा

नई दिल्ली
पीएनबी में ‘महाघोटाले’ ने अब राजनीतिक रंग लेना शुरू कर दिया है और मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और आम आदमी पार्टी संयोजक व दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर केंद्र की मोदी सरकार को घेरा है। राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में एक तरह से आरोप लगाए हैं कि इस घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी दावोस में पीएम मोदी के साथ देखे गए। उन्होंने कहा कि पहले पीएम मोदी के साथ दिखो और फिर पब्लिक के पैसे लेकर माल्या की तरह फरार हो जाओ।

उधर, दिल्ली सीएम केजरीवाल ने एक ट्वीट को रीट्वीट करते हुए बीजेपी सरकार पर अनदेखी का आरोप लगाया है। केजरीवाल ने लगे हाथ विजय माल्या की फरारी का प्रकरण भी उठाया है और इन दोनों का ठीकरा बीजेपी सरकार के माथे पर फोड़ा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी घोटाले के साथ मोदी सरकार को जोड़ते हुए #ModiScam से ट्वीट किया है।

पब्लिक सेक्टर के बड़े बैंक पीएनबी में करीब 11,300 करोड़ रुपये के फर्जीवाड़े की बात सामने आ रही है। इस महाघोटाले का मुख्य आरोपी हीरा कारोबारी नीरव मोदी को बताया जा रहा है। ईडी ने नीरव मोदी के ठिकानों पर छापेमारी शुरू कर दी है। इस घोटाले की खबर ने अब राजनीतिक रंग लेना भी शुरू कर दिया है। इसी संदर्भ में केजरीवाल और सुरजेवाला का ट्विटर अटैक सामने आया है।

इस हमले की शुरुआत अरविंद केजरीवाल की तरफ से हुई है। केजरीवाल ने एक ट्वीट को रीट्वीट करते हुए बीजेपी सरकार को घेरा। केजरीवाल ने लिखा कि क्या इसपर विश्वास करना मुमकिन है कि नीरव मोदी या विजय माल्या बिना बीजेपी सरकार की अनदेखी के देश छोड़ने में सफल हो गए? केजरीवाल के सवाल पर बीजेपी ने कहा कि पीएनबी का ट्रांजैक्शन 2011 में हुआ है और उस समय हमारी सरकार नहीं थी।

दरअसल विजय माल्या पर भी बैंकों का करीब 9000 करोड़ रुपये लेकर फरार होने का आरोप है। सरकार अबतक माल्या को देश वापस लाने में सफल नहीं हो सकी है। इसी बीच अब विपक्षी पार्टियों को नीरव मोदी का मामला भी मिल गया है। कांग्रेस ने भी इस मसले को उठाने में देर नहीं की है।

कांग्रेस का सवाल, सरकार के भीतर से किसी ने की नीरव मोदी को भागने में मदद?
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर पूछा है कि नीरव मोदी कौन हैं? उन्होंने इस घोटाले के लिए ‘द न्यू मोदीस्कैम’ का भी इस्तेमाल किया है। सुरजेवाला ने ट्वीट में सवाल उठाए हैं कि क्या ललित मोदी और विजय माल्या की तरह ही किसी ने सरकार के भीतर से नीरव मोदी को भागने में मदद की? सुरजेवाला ने पूछा है कि क्या यह नियम बन गया है कि पब्लिक का पैसा लेकर लोगों को भागने दिया जाएगा? कौन दोषी है? कांग्रेस इस मुद्दे पर दोपहर 2 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करने वाली है।

Courtesy: NBT
Categories: India

Related Articles