PM मोदी के भाषण के दौरान दलित छात्रों को अस्तबल में बिठाया, स्कूल प्रबंधन-शिक्षक पर केस

PM मोदी के भाषण के दौरान दलित छात्रों को अस्तबल में बिठाया, स्कूल प्रबंधन-शिक्षक पर केस

सरकारी हाई स्कूल चेष्टा में पीएम नरेंद्र मोदी के ‘परीक्षा पर चर्चा’ कार्यक्रम को दिखाने के लिए एसएमसी अध्यक्ष के घर बच्चों को ले जाया गया. यहां एक जाति विशेष के बच्चों को अन्य बच्चों से दूर घोड़ों को बांधने वाली जगह के पास बैठाया गया.

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू की दुर्गम पंचायत शिल्ही राजगिरी के हाई स्कूल चेष्टा में जातीय भेदभाव मामले में न्यायिक जांच पूरी हो गई है. डीसी यूनुस ने कार्रवाई के लिए रिपोर्ट पुलिस विभाग और शिक्षा सचिव को भेजी है.

वहीं, पुलिस थाना भुंतर में स्कूल प्रबंधन/स्टॉफ और एसएमसी अध्यापक, मिड डे मील वर्कर पर छुआछूत अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है. भुंतर पुलिस थाना में छुआछूत अधिनियम 2016 की धारा 3 (1) आर के तहत मामला दर्ज किया है.

सूत्रों का कहना है कि मजिस्ट्रियल जांच में शिकायत में लिखे गए तथ्य सही पाए गए हैं. बच्चों के साथ जातीय भेदभाव हुआ है. रिपोर्ट में बच्चों को पीएम मोदी के भाषण के दौरान अस्तबल में बैठाने के तथ्य सामने आए हैं।

दलित छात्रों के साथ दुर्व्यवहार का यह मामला इन दिनों सुर्खियों में है. सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि घटना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है. ऐसी घटनाएं घटित नहीं होनी चाहिए. रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी.

कुल्लू पुलिस ने बताया कि स्कूल प्रबंधन और स्टॉफ के खिलाफ छुआछूत अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है. डीएसपी मनाली को जांच का जिम्मा सौंपा गया है.

यह है मामला 
सरकारी हाई स्कूल चेष्टा में पीएम नरेंद्र मोदी के ‘परीक्षा पर चर्चा’ कार्यक्रम को दिखाने के लिए एसएमसी अध्यक्ष के घर बच्चों को ले जाया गया. यहां एक जाति विशेष के बच्चों को अन्य बच्चों से दूर घोड़ों को बांधने वाली जगह के पास बैठाया गया.

इसका एक वीडियो और शिकायत सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. इसके बाद मजिस्ट्रियल जांच बैठाई गई है.

Courtesy:News18

Categories: India

Related Articles