विधानसभा चुनाव 2018: मेघालय और नगालैंड में मतदान जारी, वोटिंग के दौरान तिजित में धमाका, एक घायल

विधानसभा चुनाव 2018: मेघालय और नगालैंड में मतदान जारी, वोटिंग के दौरान तिजित में धमाका, एक घायल

दो पूर्वोत्तर राज्यों मेघालय और नगालैंड में विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार (27 फरवरी) सुबह से मतदान जारी है। दोनों राज्यों में आज 59-59 सीटों पर मतदान चल रहा है। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुई और शाम चार बजे तक चलेगा। नगालैंड के दूरदराज के जिलों में कुछ मतदान केंद्रों पर मतदान तीन बजे समाप्त हो जाएगा। दोनों राज्यों में 60-60 सदस्यीय विधानसभा है, लेकिन दोनों ही प्रदेशों में 59 सीटों के लिए मतदान हो रहा है।

मेघालय में 18 फरवरी को ईस्ट गारो हिल्स जिले में एक आईईडी विस्फोट में राकांपा प्रत्याशी जोनाथन एन संगमा की मौत हो जाने की वजह से विलियमनगर सीट पर चुनाव रद्द कर दिया गया है। वहीं, नगालैंड में एनडीपीपी प्रमुख नीफियू रियो को उत्तरी अंगामी-द्वितीय विधानसभा सीट से निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया जा चुका है। दोनों ही राज्यों में तथा त्रिपुरा में चुनाव के परिणाम 3 मार्च को घोषित किए जाएंगे।

इस बीच नागालैंड कि तिजित में एक पोलिंग बूथ पर हिंसा की खबर है। तिजित टाउन विधानसभा क्षेत्र के एक पोलिंग बूथ में धमाका हो गया। इस धमाके में एक व्यक्ति के घायल होने की खबर है। वहीं ब्लास्ट की वजह क्या थी, इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर मेघालय और नागालैंड के लोगों से आग्रह किया कि वह विधानसभा चुनावों में बड़ी संख्या में वोट करें।

दोनों राज्यों में पांव पसारने की कोशिश में बीजेपी

असम, मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश में सरकार बनाने से उत्साहित भारतीय जनता पार्टी अब नगालैंड तथा मेघालय में अपने पांव पसारने की कोशिश कर रही है। वहीं, कांग्रेस के लिए मेघालय में मिलने वाले चुनाव के परिणाम महत्वपूर्ण रहेंगे, क्योंकि इस राज्य में वह बीते 10 साल से सत्ता पर है। बीजेपी नगालैंड और मेघालय को अपने पाले में डालने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही है। राजनीतिक पर्यवेक्षक पूर्वोत्तर राज्यों में सरकार बनाने की बीजेपी की कोशिश पर उत्सुकता से नजर बनाए हुए हैं।

वैसे भी पूर्वोत्तर कांग्रेस का गढ़ रहा है और परंपरागत रूप से भगवा दल यहां हाशिये पर ही रहा है। मेघालय में कांग्रेस ने 59 और बीजेपी ने 47 सीटों पर प्रत्याशी उतारे हैं। इस राज्य में लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष पी ए संगमा के पुत्र कॉनराड संगमा की नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) और बीजेपी अलग-अलग चुनाव लड़ रही हैं, लेकिन नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस (एनईडीए) में एनपीपी भाजपा की सहयोगी है।

नगालैंड में बीजेपी को नीफियू रियो की नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) के साथ किनारे लगने की उम्मीद है। दोनों गठबंधन भागीदारों में से एनडीपीपी ने 40 सीटों पर और भाजपा ने शेष 20 सीटों पर प्रत्याशी उतारे हैं। वर्ष 1963 में नगालैंड के अस्तित्व में आने के बाद कांग्रेस ने तीन मुख्यमंत्री दिए। लेकिन वह अब केवल 18 सीटों पर लड़ रही है, जबकि बीजेपी यहां 20 सीटों पर खड़ी है।

पहली बार महिला और आदर्श मतदान केंद्र स्थापित

मेघालय में 370 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। कुल 18.4 लाख मतदाता राज्य में फैले 3,083 मतदान केंद्रों पर अपने मताधिकारों का उपयोग करेंगे। मेघालय के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एफ आर खारकोंगोर ने समाचार एजेंसी भाषा को बताया कि राज्य में पहली बार 67 महिला मतदान केंद्र और 61 आदर्श मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं। राज्य विधानसभा चुनाव में 32 महिलाएं भी उम्मीदवार हैं।

नगालैंड में 11,91,513 मतदाताओं में से 6,01,707 पुरुष और 5,89,806 महिला मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। सैन्य सेवाओं में कार्यरत मतदाताओं की संख्या 5,925 हैं। नगालैंड में चुनाव से पहले नगा राजनीतिक मुद्दे के समाधान की मांग कर रही नगालैंड ट्राइबल होहोज एंड सिविल ऑर्गनाइजेशन्स (सीसीएनटीएचसीओ) की कोर समिति ने ‘‘चुनाव नहीं’’ का फरमान जारी किया है ,जिसके चलते राजनीतिक दलों ने खुद को चुनाव प्रक्रिया से अलग कर रखा है।

Courtesy: jantakareporter

Categories: India

Related Articles