कोलकाता के बाद केरल पहुंची मूर्तितोड़ राजनीति की आंच,तोड़ी गई महात्मा गांधी की मूर्ति

कोलकाता के बाद केरल पहुंची मूर्तितोड़ राजनीति की आंच,तोड़ी गई महात्मा गांधी की मूर्ति

बता दें कि त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति के बाद तमिलनाडु में पेरियार की मूर्ति पर वार किया गया। ये मामला शांत नहीं हुआ था कि कोलकाता में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति पर कालिख पोतकर तोड़ दी गई। अब मूर्ति के बदले मूर्ति तोड़ने का खेल केरल तक पहुंच गया है।

 

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मेरठ में भीम राव अंबेडकर की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया गया। अब केरल के कन्नूर में गुरुवार को कुछ अज्ञात लोगों ने गांधी की प्रतिमा तोड़ी।

 

बता दें कि पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव में वामदल (सीपीएम) की हार के बाद राजधानी अगरतला से महज 90 किलोमीटर दूर बेलोनिया के सेंटर ऑफ कॉलेज स्कॉयर में रूसी क्रांति के नायक और वामदल विचारधारा के प्रतीक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति को ‘भारत माता की जय’ नारे लगाती भीड़ ने जेसीबी मशीन से गिरा दिया गया था।

 

इस घटना के बाद से देश के कई इलाकों से मूर्तियों के तोड़े जाने या उन्हें नुकसान पहुंचाए जाने की खबर सामने आ रही है। मूर्ति तोड़े जाने की पहली घटना त्रिपुरा में तब हुई जब लेफ़्ट को हराकर भाजपा की जीत को हासिल किए महज 48 घंटे ही बीते थे।

 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 2013 में जब लेफ़्ट ने चुनाव जीते थे, तब इस प्रतिमा को लगाया गया था। इस घटना के बाद दक्षिण त्रिपुरा में लेनिन की एक और प्रतिमा गिराई गई। दूसरी घटना सबरूम में हुई। यहां भीड़ ने लेनिन की एक छोटी मूर्ति को गिरा दिया।

 

Categories: India

Related Articles