शादी के फेरों से पहले देना होगा आधार नंबर, सामूहिक विवाह पर योगी सरकार का फैसला

शादी के फेरों से पहले देना होगा आधार नंबर, सामूहिक विवाह पर योगी सरकार का फैसला

लाना होगा आधार, तुरंत कराना होगा मैरिज रजिस्ट्रेशन सामूहिक विवाह कार्यक्रम में शामिल होने वाले जोड़ों को फेरे लेने से पहले अपना आधार नंबर देना होगा। यही नहीं इन तमाम जोड़ों को निर्देश दिया गया है कि वह अपना आयु प्रमाण पत्र और दो फोटो भी साथ लाए। नवविवाहित जोड़ों को शादी के तुरंत बाद अपना मैरिज रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसके लिए नगर निगम ने इन जोड़ों को पहले ही जानकारी दे दी है। किसी भी तरह के फर्जीवाड़े से बचने के लिए विवाह के तुरंत बाद जोड़ों को मैरिज रजिस्ट्रेशन कराया जाएगा।

कई लोग होंगे मौजूद आपको बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना का ऐलान किया था, जिसके तहत लखनऊ में इस विवाह की जिम्मेदारी नगर निगम को दी गई है। तमाम जोड़ों को इस बाबत गुरुवार को दस्तावेज इकट्ठा करने का भी निर्देश दे दिया गया है। इस कार्यक्रम में सीएम के अलावा सांसद, कैबिनेट मंत्री, विधायक व अन्य वीआईपी लोग शिरकत करेंगे। हाल ही में सामूहिक विवाह में फर्जीवाड़े की खबर आई थी, लिहाजा किसी भी फर्जीवाड़े से बचने के लिए योगी सरकार पूरी एहतियात बरत रही है।

उपहार की बारिश शादी के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नवविवाहित जोड़ों को उपहार भी भेंट करेंगे। वह जोड़ों को 20 हजार रुपए और एक स्मार्ट फोन देंगे। साथ ही शादी में शिरकत करने वाले गणमान्यो को भी इस बात की इजाजत दी गई है कि अगर वह अपनी ओर से इन्हें कुछ देना चाहते हैं तो वह उन्हें दे सकते हैं। शादी के दौरान नवविवाहितों को कूलर वाटर जार, जीवन रक्षक दवाएं, लंच हॉट केस भी दिया जाएगा। इसके अलावा दुल्हन को चांदी के जेवर भी दिए जाएंगे, जिसके साथ ज्वेलर्स का शपथ पत्र भी होगा, ताकि ज्वेलरी के साथ फर्जीवाड़ा ना किया जा सके।

Courtesy: oneindia

Categories: Regional

Related Articles