सुषमा स्वराज ने कहा- ISIS ने की मोसुल में लापता हुए 39 भारतीय की हत्या

सुषमा स्वराज ने कहा- ISIS ने की मोसुल में लापता हुए 39 भारतीय की हत्या

भारत के लिए एक बहुत ही दुखद खबर आई है। इराक के मौसुल में लापता 39 भारतीयों की मौत हो चुकी है। मंगलवार (20 मार्च) को विदेश में सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में इस दुखद खबर की जानकारी। बता दें कि वर्ष 2014 में मोसुल से 39 भारतीयों के लापता होने की खबर सामने आई थी। विदेश मंत्री ने कहा कि मृतकों के शव लाने के लिए केंद्रीय मंत्री वी.के सिंह ईराक जाएंगे।

हालांकि उस वक्त विदेश मंत्री की तरफ से इराक की किसी जेल में भारतीय नागरिकों के बंद होने की संभावना जताई गई थी। ये सभी नागरिक साल 2014 से ही इराक से लापता हुए थे। विदेश मंत्री ने बताया कि ईराक में अगवा किए गए 39 भारतीयों की मौत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि हमने सभी के डीएनए सैंपल ईराक भेजकर शवों से मैच करवाया है, सभी सैंपल शवों से मैच हो गए हैं।

सुषमा स्वराज ने कहा कि ईराक सरकार ने हमारी मदद की, हमने सामूहिक कब्रगाह में शवों की खोज करवाई है। उन्होंने कहा कि मरने वालों में 31 लोग पंजाब के, चार लोग हिमाचल से और बिहार के भी लोग मृतकों में शामिल हैं। विदेश मंत्री ने बताया कि विशेष विमान से मृतकों का शव भारत लाया जाएगा। राज्यसभा में मृतकों की याद में 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई।

सुषमा स्वराज के मुताबिक 39 भारतीयों की हत्या आईएसआईएस ने की है। उन्होंने कहा कि बंधक बनाए जाने की कहानी झूठी थी। उन्होंने यह भी कहा कि सभी की पहचान शवों और कड़े से हुई। विदेश मंत्री ने कहा कि इराक में मारे गये 39 में से 38 लोगों का डीएनए मैच हो गया है, जबकि 39वें का डीएनए 70 प्रतिशत तक मैच हो गया है।

राज्यसभा में जवाब देते हुए सुषमा स्वराज ने कहा कि बहुत भरे मन के साथ ही सही, लेकिन 3 साल बाद 39 अगवा भारतीयों के इराक में मारे जाने की खबर की मैं पुष्टि करती हूं। इससे पहले सुषमा स्वराज ने कहा था कि इराक के मोसूल में लापता 39 भारतीयों को बिना किसी सबूतों के मृत घोषित नहीं किया जा सकता।

Courtesy: jantakareporter.

Categories: India

Related Articles