कर्नाटक चुनाव ओपिनियन पोल से बीजेपी सदमे में, कांग्रेस में ख़ुशी की लहर

कर्नाटक चुनाव ओपिनियन पोल से बीजेपी सदमे में, कांग्रेस में ख़ुशी की लहर

कर्नाटक में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस को राहत देने वाली खबर मिली है। पार्टी के आंतरिक सर्वे में सीएम सिद्धारमैया की सत्ता में वापसी हो रही है। इस सर्वे को सी फोर ने अंजाम दिया है। इसमें सिद्धारमैया सरकार को पिछली बार से भी ज्यादा सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है।

सर्वे में कांग्रेस को 126 सीटें मिलने की उम्मीद की गई है, जो 2013 से 4 ज्यादा हैं। इस सर्वे में बीजेपी को 70 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है, जो पिछली बार से करीब 30 ज्यादा होंगी। वहीं, जेडीएस को केवल 27 सीटें मिलने की बात कही जा रही है। यह सर्वे 154 सीटों के लगभग सभी जिलों और 22,357 लोगों के बीच किया गया था।

बता दें कि कांग्रेस ने इससे पहले भी सर्वे कराया था। यह सर्वे पीएम मोदी की परिवर्तन यात्रा के बाद और राहुल गांधी के कर्नाटक दौरे से पहले किया गया था। तब कांग्रेस को 105 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया था। तब कांग्रेस सरकार बनाने के जरूरी 113 सीटों के आंकड़े से 8 सीटें पीछे रह रही थी।

इस सर्वे में कांग्रेस पार्टी के वोट शेयर में भी अच्छा-खासा उछाल देखने को मिला है। यह 9 फीसदी की बढ़ोत्तरी के बाद 46 फीसदी पर पहुंच गया है। कांग्रेस के एक नेता ने कहा है कि कर्नाटक में भी बिहार की तरह मामला हो सकता है। वहां नीतीश कुमार की हार के कयास लगाए जा रहे थे, लेकिन हुआ इसके उलट था।

कांग्रेस के सर्वे में सिद्धारमैया को बीजेपी के सीएम उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा से भी कहीं आगे पाया गया है। दोनों नेताओं के बीच 19 फीसदी का अंतर देखने को मिला है। कांग्रेस के सर्वे में लिंगायत को अलग धर्म मानने वाले फैसले को भी पसंद किया जा रहा है। इस सर्वे में पीएनबी घोटाले, अमित शाह के बेटे जय शाह की संपत्ति, नोटबंदी और जीएसटी जैसे मामलों पर भी मिले हैं।

 

इसके अलावा कांग्रेस के लिए खुश होने की एक और वजह पुराने मैसूर इलाके में और बेंगलुरु के शहरी इलाके में अच्छा प्रदर्शन करने के रुझान हैं। पुराने मैसूर में इसे 14 फीसदी वोटशेयर के फायदे के साथ 65 में से 33 सीटें और बेंगलुरु में भी बीजेपी से ज्यादा सीटें मिलने का अनुमान है।

Courtesy: exposekhabar.

Categories: India

Related Articles