बिहार के समस्तीपुर में मस्जिद पर हिंदुत्व के गुंडों ने लहराए भगवा झंडे, धार्मिक किताबों को भी पहुचाया गया नुकसान

बिहार के समस्तीपुर में मस्जिद पर हिंदुत्व के गुंडों ने लहराए भगवा झंडे, धार्मिक किताबों को भी पहुचाया गया नुकसान

बिहार में भागलपुर, औरंगाबाद में हुए सांप्रदायिक हिंसा के बाद अब समस्तीपुर में भी सांप्रदायिक हिंसा देखने को मिली है। ख़बरों के मुताबिक, मंगलवार(27 मार्च) को समस्‍तीपुर जिले के रोसड़ा कस्‍बे में कुछ हिंदुत्ववादी स्थानीय मस्जिद पर जुट गए और उस पर चढ़कर भगवा झंडे लहराए। इतना ही नहीं सैकड़ों की संख्या में मौजूद हिंदुत्व वादियों ने मस्जिद पर हमला भी बोला, इस घटना ने जुड़े कुछ वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहें है।

वायरल वीडियो में एक युवक मस्जिद की मीनार पर चढ़कर भगवा झंडा लहराता हुआ दिख रहा है। वहीं, स्थानीय निवासियों ने दावा किया है कि भगवा गुंडों ने उत्पात मचाया और धार्मिक किताबों से भी छेड़छाड़ की गई और परिसर का हिस्सा भी जलाया गया।

जिसकी कुछ तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं है। वायरल हो रहीं तस्वीरों में दिख रहा है कि, कुरान के कई अध्याय फर्श पर बिखरे पड़े है और मुस्लिम पवित्र पुस्तक के पेज जले हुए है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस पूरी घटना को औरंगाबाद में रामनवमी जुलूस के दौरान हुए विवाद से जोड़कर देखा जा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक, रोसड़ा के गुदरी बाजार स्थित मस्जिद के पास से सोमवार को माता दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन को जा रही थी। तब किसी शरारती तत्व ने मूर्ति की ओर चप्‍पल फेंक दी।

रिपोर्ट के मुताबिक, इसी के विरोध में मंगलवार को सैकड़ों लोग मस्जिद के पास इकट्ठा होकर आरोपी की बलि देने की मांग करने लगे। जिसके बाद आस-पास के लोग भी वहां पर इकट्ठा हो गए।

वहीं, इस पूरे मामले को लेकर समस्‍तीपुर के एसपी दीपक रंजन ने कहा कि, मंगलवार की सुबह एक खास समुदाय से लोग यहां शांति-व्‍यवस्‍था को नुकसान पहुंचाने की नीयत से इकट्ठा हुए थे। उन्होंने आगे कहा कि, जानकारी मिलने पर पुलिस फौरन पहुंची और हालात को काबू में किया गया। साथ ही उन्होंने बताया कि, जब पुलिस वहां पहुंची तो उन्‍हें भगवा झंडे नहीं मिले, केवल तिरंगा लगा हुआ मिला। उन्होंने यह भी कहा कि, इस मामले में एक व्‍यक्ति को गिरफ्तार किया गया है।

बता दें कि भागलपुर में दंगा भड़काने के मामले में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अरिजित शाश्वत और आठ अन्य के खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया गया है। अरिजित पर पिछले हफ्ते 17 मार्च को भागलपुर जिले में सांप्रदायिक हिंसा भड़काने का आरोप है। अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (एसीजेएम) अंजनी कुमार श्रीवास्तव ने नाथनगर पुलिस की ओर से दायर अर्जी पर वॉरंट जारी किया।

Courtesy: .jantakareporter.

Categories: Crime