कश्मीर में मारे गए आतंकियों के प्रति हमदर्दी जताने के बाद अब शाहिद अफरीदी ने भारतीय तिरंगा शेयर कर जताया प्यार

कश्मीर में मारे गए आतंकियों के प्रति हमदर्दी जताने के बाद अब शाहिद अफरीदी ने भारतीय तिरंगा शेयर कर जताया प्यार

जम्मू-कश्मीर में गत दिनों सेना के आतंकरोधी अभियान के तहत मारे गए आतंकियों के प्रति हमदर्दी जताते के बाद अब पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने भारतीय तिरंगे को शेयर कर प्यार जताया है। शाहिद ने भारतीय तिरंगे का सम्मान वाले उस पुराने तस्वीर को अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर भारतीयों के प्रति सम्मान जताया है जो पिछले दिनों काफी वायरल हुआ था।

अफरीदी ने अपने ट्वीट में कहा है कि हम सभी का सम्मान करते हैं। लेकिन जब मानवाधिकारों की बात आती है तो हम उम्मीद करते हैं कि निर्दोष कश्मीरियों के लिए भी ऐसा ही होगा। गौरतलब है कि पिछले दिनों स्विट्ज़रलैंड में आइस क्रिकेट की प्रतियोगिता के दौरान जब वह भारतीय फैंस के पास पहुंचे तो उन्होंने देखा कि उसने तिरंगे को ठीक से नहीं पकड़ रखा था। जिसके बाद अफरीदी ने भारतीय फैंस से कहा को वो तिरंगे को ठीक से पकड़ें। यह तस्वीर काफी वायरल हुई थी।

दरअसल, इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के मारे जाने पर दुख जताया था। अफरीदी ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘भारत अधिकृत कश्मीर (जम्मू कश्मीर) की स्थिति बेचैन करनेवाली और चिंताजनक है। यहां आत्मनिर्णय और आजादी की आवाज को दबाने के लिए दमनकारी शासन द्वारा निर्दोषों को मार दिया जाता है। हैरान हूं कि संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठन कहां हैं? वे इस खूनी संघर्ष को रोकने के लिए कुछ क्यों नहीं कर रहे?’

पाकिस्तान के पूर्व आलराउंडर शाहिद अफरीदी के इस ट्वीट के बाद भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने उनका मजाक उड़ाते हुए करारा जवाब दिया है। गंभीर ने अफरीदी के बयान के आधार पर उन्हें अपरिपक्व व्यक्ति बताया। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “हमारे कश्मीर और संयुक्त राष्ट्र को लेकर किए गए शाहिद अफरीदी के ट्वीट पर रिएक्शन के लिए मीडिया की ओर से मुझे कॉल आए। इसमें क्या कहना है? अफरीदी सिर्फ यूएन की ओर देख रहे हैं, जिसका मतलब उनके शब्दकोश में अंडर-19 है। मीडिया इसे हल्के में ही ले। अफरीदी नो बॉल पर आउट होने का जश्न मना रहे हैं।”

गौरतलब है कि गत रविवार को जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सेना के आॅपरेशन में 11 आतंकी मारे गए थे, वहीं अनंतनाग में एक आतंकी को सेना ने मुठभेड़ में ढेर किया था। इस दौरान सेना के तीन जवान भी शहीद हो गए। इस मुठभेड़ के बाद दक्षिण और मध्य कश्मीर में तनाव की स्थिति उत्पन्न हुई, जिसमें 5 नागरिकों की मौत हुई थी और 50 से अधिक घायल हुए थे।

 

Courtesy: jantakareporter

Categories: Sports

Related Articles