शर्मनाक: ताजनगरी आगरा में कंधे पर ऑक्सीजन सिलेंडर रखकर बीमार मां के लिए घंटों एंबुलेंस का इंतजार करता रहा बेटा

शर्मनाक: ताजनगरी आगरा में कंधे पर ऑक्सीजन सिलेंडर रखकर बीमार मां के लिए घंटों एंबुलेंस का इंतजार करता रहा बेटा

भारत के अलग-अगल राज्यों से हर रोज कोई न कोई ऐसी तस्वीर सामने आ ही जाती है, जिसे देखकर हमें शर्मसार होना पड़ता है। देश के किसी राज्य में जब कोई गरीब व्यक्ति बीमार होता है तो वो सरकारी अस्पतालों का सहारा लेता है, लेकिन जब सरकारी अस्पतालों में गरीब इंसान को कोई मदद नहीं मिलती है तो उनपर क्या बितती होगी उसका अंदाजा आप इसी ख़बर से लगा सकते है।

बता दें कि, एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, जो यूपी के आगरा का बताया जा रहा है। यहां के एसएन मेडिकल कॉलेज में प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। जहां बीमार मां का इलाज कराने आए उसके बेटे को कंधे पर ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर खड़ा रहना पड़ा। सिलेंडर का कनेक्शन पास में खड़ी बुजुर्ग मां के मास्क में लगा हुआ था और दोनों मां-बेटे वहां एम्बुलेंस के इंतजार में खड़े थे।

ख़बरों के मुताबिक, दोनों मां-बेटे वहां घंटों तक एंबुलेंस का इंतजार करते रहें। लेकिन फिर भी एंबुलेंस नहीं आई। एक राज्य के लिए इससे बड़ा दुर्भाग्य और क्या हो सकता है।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, आगरा में स्थित एसएन मेडिकल कॉलेज के ट्रॉमा सेंटर में गुरुवार(5 अप्रैल) को रुनकता निवासी अंगूरी देवी को सांस फूलने पर भर्ती किया गया था। उन्हें ऑक्सिजन लगाने के बाद वॉर्ड में शिफ्ट करने के लिए कह दिया गया। ट्रॉमा सेंटर से वॉर्ड काफी दूर है इसलिए एंबुलेंस बुलाने को कह कर उन्हें जाने के लिए कह दिया गया। मां-बेटे ट्रॉमा सेंटर से बाहर निकल आए और काफी देर तक धूप में ही खड़े रहे।

रिपोर्ट के मुताबिक, अस्पताल में आए लोगों के अनुसार अंगूरी देवी का बेटा ऑक्सिजन सिलिंडर को अपने कंधे पर रखकर खड़ा रहा। अपने बेटे के ठीक बगल में ऑक्सिजन मास्क लगाए अंगूरी देवी भी खड़ी रहीं। देर तक इंतजार करने के बाद भी एंबुलेंस के नहीं आने पर तेज धूप और गर्मी के कारण बुजुर्ग अंगूरी देवी की तबियत फिर बिगड़ने लगी तो उन्हें इमर्जेंसी में भर्ती कराना पड़ा।

रिपोर्ट के मुताबिक, आगरा के एसएन अस्पताल को यूपी सरकार एम्स की तर्ज पर विकसित करने का एलान कर चुकी है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के अफसरों और मंत्रियों के दौरे लगातार हो रहते हैं। प्रदेश सरकार का दावा है कि उत्तर प्रदेश में चिकित्सा व्यवस्था बेहद दुरुस्त है। साथ ही सरकार एक फोन कॉल पर एंबुलेंस और डॉक्टरों के सुलभ होने का दावा भी करती है।

बता दें कि स्वास्थ्य सुविधाओं और सेवाओं के मामले में भारत अन्य कई देशों से काफी पीछे है। स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में 195 देशों की सूची में भारत 154 वें स्थान पर है। देश में बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं की इस हालत की पुष्टि एक अध्ययन के परिणामों से हो जाती है।

स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में भारत बांग्लादेश, चीन, भूटान और श्रीलंका समेत अपने कई पड़ोसी देशों से पीछे है। हाल ही में मेडिकल जर्नल ‘द लैनसेट’ में प्रकाशित ‘ग्लोबल बर्डेन ऑफ डिजीज स्टडी’ के अनुसार स्वास्थ्य सेवा से जुड़ी 195 देशों की सूची में भारत को 154वें स्थान मिला है।

Courtesy: .jantakareporter

Categories: Regional