यूपी: BJP विधायक पर बलात्कार का आरोप, पीड़िता ने CM आवास के बाहर की खुदकुशी की कोशिश

यूपी: BJP विधायक पर बलात्कार का आरोप, पीड़िता ने CM आवास के बाहर की खुदकुशी की कोशिश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। यूपी की राजधानी लखनऊ में रविवार (8 अप्रैल) को एक महिला और उसके परिवार ने कथित तौर पर मुख्यमंत्री (योगी आदित्यनाथ) आवास के बाहर खुदकुशी करने की कोशिश की है। महिला के परिवार का आरोप है कि एक भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक अपने साथियों के साथ महिला से रेप किया और आज तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है। उल्टे शिकायत करने के बाद उसे और उसके परिवार को धमकियां मिलने लगीं।

महिला ने उन्नाव जिले की बांगरमऊ विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके भाई पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। महिला ने BJP विधायक पर रेप का आरोप लगाते हुए रविवार को लखनऊ में CM आवास के बाहर परिवार सहित आत्मदाह की कोशिश की। हालांकि मौके पर मौजूद पुलिस ने महिला और उसके परिवार को ऐसा करने से रोक लिया।

बीजेपी विधायक पर आरोप लगाते हुए महिला ने बताया कि, ‘मेरे साथ बीजेपी विधायक ने अपने साथियों संग मिलकर रेप किया। मैंने हर दरवाजा खटखटाया, हर किसी से मदद मांगी मगर किसी ने मेरी नहीं सुनी। उन सभी को गिरफ्तार किया जाए, नहीं तो मैं अपनी जान दे दूंगी।’ महिला ने कहा कि, ‘मैं सीएम योगी आदित्यनाथ के पास भी गई था, मगर कोई सहायता नहीं मिली। हमने जब एफआईआर दर्ज करवानी चाही तो हमें धमकियां मिलने लगीं।’ महिला और उसका परिवार उन्नाव का रहने वाला है।

इस मामले में एडीजी राजीव कृष्ण ने कहा कि सीएम आवास के सामने आत्महत्या की कोशिश करने वाली महिला ने विधायक पर रेप और मारपीट का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि शुरुआत जांच में पता चला है कि दोनों पक्षों के बीच पिछले 10-12 सालों से विवाद चल रहा है। मामले की जांच की जा रही है। एडीजी राजीव कृष्‍ण का कहना है कि केस को लखनऊ स्‍थानांतरित कर दिया गया है। उनके अनुसार जांच के बाद ही आरोपों को साबित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि पीडि़ता और उसके परिवार से मुलाकात करके कार्रवाई का आश्‍वासन दिया है।

बीजेपी विधायक ने आरोपों को किया खारिज

वहीं, आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज कर दिया है। सेंगर ने कहा कि, “उन लोगों (पीड़ित महिला) के परिवार में एक घटना घटी थी। मामला भी दर्ज किया गया था। पुलिस ने इस मामले में 2 निर्दोष लोगों को छोड़ दिया था। लेकिन इन लोगों को लगता है कि मैंने उसकी मदद की। इस वजह से ये लोग मुझे मुझे बदनाम करने के लिए हमेशा लगे रहते हैं। मैं प्रशासन को इस अच्छी तरह से इस मामले की जांच करने और वास्तविक अपराधी को दंडित करने का अनुरोध करता हूं।”

बीजेपी विधायक का कहना है कि मामले की स्क्रिप्‍ट महिला के परिवार ने तीन दिन पहले उन्‍नाव में रची थी। कुलदीप सिंह सेंगर ने आगे कहा कि, इन लोगों ने पिछले छह महीनों से फेसबुक, व्‍हाट्सएप समेत अन्‍य माध्‍यमों से मेरे खिलाफ कई शिकायतें कीं। इन्‍होंने मेरे खिलाफ लगभग सभी विभागों में पत्रों के माध्‍यम से भी कई मामलों में फंसाने के लिए शिकायतें कीं। प्रशासन और पुलिस ने जांच भी की। अब यह इनकी आखिरी स्क्रिप्‍ट बची थी।

Courtesy: .jantakareporter.

Categories: Crime

Related Articles