उन्‍नाव गैंगरेप के आरोपी बीजेपी विधायक के खिलाफ पर्याप्‍त सबूत नहीं: यूपी सरकार

उन्‍नाव गैंगरेप के आरोपी बीजेपी विधायक के खिलाफ पर्याप्‍त सबूत नहीं: यूपी सरकार

उत्‍तर प्रदेश सरकार ने इलाहाबाद हाई कोर्ट में दाखिल अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उन्‍नाव गैंगरेप के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगरके खिलाफ पर्याप्‍त सबूत नहीं है। यूपी सरकार ने कहा कि जांच में अगर विधायक के खिलाफ सबूत मिलेगा तो कार्रवाई होगी। हाई कोर्ट ने सुनवाई के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है और वह अब शुक्रवार दो बजे अपना फैसला सुनाएगा। बताया जा रहा है कि हाई कोर्ट ने प्रदेश सरकार के इस जवाब पर नाराजगी जताई।

बता दें, उन्नाव गैंगरेप केस में जहां यूपी सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी है। इस मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने भी सख्त रवैया अपनाते बुधवार को हुए साफ-साफ सरकार से पूछा था कि वह 1 घंटे में बताए कि रेप के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर को गिरफ्तार करेंगे या नहीं। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने इस मामले पर यूपी सरकार से रिपोर्ट भी मांगी थी।

यूपी सरकार ने अपने रिपोर्ट में कहा कि विधायक के खिलाफ पर्याप्‍त सबूत नहीं है। अगर जांच में उनके खिलाफ कोई सबूत पाया गया तो कार्रवाई होगी। महाधिवक्ता ने कहा कि सरकार ने अब तक कानून के तहत उचित कार्रवाई की है और आगे भी कानूनी प्रक्रिया के तहत कार्रवाई करेगी। गौरतलब है कि गैंगरेप और पीड़िता के पिता की हत्या के मामले में एसआईटी और चारों तरफ से बढ़ते दबाव के चलते सेंगर बुधवार को सरेंडर के लिए एसएसपी आवास पहुंचे थे, लेकिन वह बिना सरेंडर के ही वापस लौट आए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी इस मामले को लेकर ऐक्टिव हो गए हैं। मुख्यमंत्री के आदेश पर बुधवार को एडीजी राजीव कृष्णा के साथ स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम पीड़िता के गांव गई थी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुधवार रात विधायक को सरेंडर करने का आदेश दिया था और गुरुवार को विधायक पर पुलिस ने FIR भी दर्ज कर ली गई है। कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ पुलिस ने धारा 363, 366, 376 ,506 और पॉक्सो ऐक्ट के तहत केस दर्ज किया है।

उन्नाव गैंगरेप मामले को लेकर विपक्ष भी बीजेपी पर हमलावर हो गया। इस मामले में बीजेपी की छवि खराब हुई है। हालांकि पीएम मोदी ने खुद मोर्चा संभाल लिया है और फैसला किया है कि वे खुद राज्यों के विधायकों को फोन कर जमीनी हकीकत का पता लगाएंगे। वहीं इस मामले में सुप्रीम कोर्ट अगले हफ्ते सुनवाई करेगा।

Source: NBT

Categories: Crime

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*