शर्मनाक: झारखंड में नाबालिग के साथ गैंगरेप के बाद पंचायत ने लगाया जुर्माना तो आरोपियों ने पीड़िता को जिंदा जलाया, मुखिया समेत दो गिरफ्तार

झारखंड में इंसानियत को झकझोर कर देने वाली घटना सामने आई है, जिसे जानकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे। चतरा जिले में एक युवती के साथ कथित रूप से बलात्कार के बाद उसे जिंदा जला दिया गया। ख़बरों के मुताबिक, बताया जा रहा है कि आरोपियों ने इस घटना को इसलिए अंजाम दिया, क्योंकि पंचायत ने गैंगरेप के बाद उन्हें 100 ऊठक-बैठक करने और जुर्माना भरने की सजा दी थी।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, चतरा जिले के ईटखोरी थान इलाके के राजा केंदुआ गांव में रेप के बाद नाबालिग की जलाकर हत्या के मामले मे पुलिस ने पंचायत करने वाली मुखिया तिलेश्वरी देवी समेत घटना में संलिप्त एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि घटना मे संलिप्त अन्य संदिग्धों, आरोपियों और पंचायत प्रतिनिधियों के गिरफ्तारी को ले सभी संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है।

रिपोर्ट के मुताबिक, जिलाधिकारी जीतेन्द्र कुमार सिंह ने आश्वासन दिया है कि अपराधियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई का निर्देश पुलिस व जिला प्रशासन के अधिकारीयों को दे दिया गया है। पीड़ित परिवार को हर हाल मे इन्साफ दिलाया जाएगा, उन्होंने कहा कि मेडिकल टीम गठित कर शव का पोस्टमार्टम कराया गया है और आगे की जांच जारी है।

न्यूज़ 18 हिंदी की रिपोर्ट के मुताबिक, मुखिया और पंचायत समिति मिलकर इस मामले में ग्राम पंचायत में फैसला दिया था। इस पंचायत ने आरोपी धनू भुइयां को पीड़ित परिवार को पचास हजार रुपए हर्जाना और 100 बार उठक-बैठक करने का सजा सुनाई थी। इसके बाद खुद को अपमानित महसूस करते हुई आरोपी ने पहले पंचायत का निर्णय मानने से इनकार कर दिया। बाद में आरोपी ने अपने तीन अन्य सहयोगियों हगलू भुइयां, जगदीश भुइयां और संतोष भुईया के साथ मिलकर पीड़िता के घर में घुसकर उसे जिंदा जला दिया।

न्यूज़ 18 हिंदी की रिपोर्ट के मुताबिक, रेप के आरोपी नाबालिग लड़की का प्रेमी था। घटना के बाद लड़की के परिजनों ने शुक्रवार सुबह में पंचायत बुलाई, करीब तीन घंटे तक चली पंचायत में आरोपी पर पचास हजार रुपए देने का फैसला सुनाया गया था।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर राजा केंदुआ गांव को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। इतना ही नहीं गांव में एसपी अखिलेश बी वारियर, एसडीओ राजीव कुमार, डीएसपी मुख्यालय पीताम्बर सिंह खैरवार व एसडीपीओ सिमरिया प्रदीप कच्छप समेत अन्य पुलिस पदाधिकारी व प्रशासनिक अधिकारी मौजूद हैं।

Courtesy:

Categories: Crime

Related Articles