मोदी सरकार में डेढ़ गुना बढ़ा बीफ का निर्यात, जनता को डराकर पैसा कमाने वाली पार्टी है ‘बीफ जनता पार्टी’

मोदी सरकार में डेढ़ गुना बढ़ा बीफ का निर्यात, जनता को डराकर पैसा कमाने वाली पार्टी है ‘बीफ जनता पार्टी’

2014 लोकसभा चुनाव में बीजेपी की जीत के बाद भारत के गर्भ में पल रहे भगवाक्रांति का उदय होता है। इस क्रांति का मकसद भारत की विविधता पर एक खास रंग पोतना है। 2014 के बाद अचानक ही भारत में राष्ट्रवादी होने का प्रमाण पत्र बाटा जाने लगता है।

भगवाधारी गुंड्डे नागरिकों खाने, पहनने, रहने, बोलने, घूमने आदि का मानक तय करने लगते हैं। ये सब सरकार की प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष सहमती से संभव हो पा रहा है। लेकिन एक खेल है जो भगवाधारी गुड्डे नहीं समझते। सरकार धर्म के नाम पर गुंड्डों की मदद से जो मानक तय कर रही है उसका फायदा उधोगपतियों को मिल रहा है।

तो भगवाधारी गुड्डों को क्या मिल रहा है? इनकों मिल रहा है भगवा गमछा, लाठी, हुड़दंग करने की आजादी, धर्म बचाने का ठेका, गलतफहमी और अंधविश्वास। उदाहरण देखिए…

बीजेपी ने सत्ता संभालते ही बीफ पर तरह तरह के कानून बनाने शुरू कर दिए। केंद्र के बाद जिन-जिन राज्यों में बीजेपी को सत्ता मिलनी शुरू हुई, सब में बीफ बेचने, खाने को लेकर कड़े कानून बनाए गएं। यूपी, महाराष्ट्र, हरियाणा, गुजरात, राजस्थान…आदि को उदाहरण के तौर याद कर लीजिए।

इस काम के लिए सरकार ने भगवा गुंड्डों की टोली का खूब इस्तेमाल किया। जगह-जगह हत्याएं हुई, अल्पसंख्यकों में डर फैलाया गया और इस सब का फायद सरकार ने उद्योगपतियों को पहुंचाया। मोदी सरकार आने के तीन साल बाद ही गाय के नाम पर मारने की दर 97% बढ़ गई थी।

भारत दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा बीफ निर्यात करने वाला देश है। ये कैसे संभव हुआ? गाय और गोवंश बचाने वाली मोदी सरकार में भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बीफ निर्यातक देश कैसे बन गया?

आकड़े देखिए,

पहले बात यूपीए-2 यानी कांग्रेस सरकार की (2009-2014)

भारत ने पाकिस्तान को 2009-10 में 30382.26 क्विंटल बीफ बेचा जिससे भारत को 18.96 करोड़ की कमाई हुई।
भारत ने पाकिस्तान को 2010-11 में 33086.22 क्विंटल बीफ बेचा जिससे भारत को 20.55 करोड़ की कमाई हुई।
भारत ने पाकिस्तान को 2011-12 में 42584.86 क्विंटल बीफ बेचा जिससे भारत को 25.32 करोड़ की कमाई हुई।
भारत ने पाकिस्तान को 2012-13 में 40734.49 क्विंटल बीफ बेचा जिससे भारत को 25.32 करोड़ की कमाई हुई।
भारत ने पाकिस्तान को 2013-14 में 57933.74 क्विंटल बीफ बेचा जिससे भारत को 34.12 करोड़ की कमाई हुई।

अब बात गाय और गोवंश बचाने वाली मोदी सरकार की (2014-2018 फरवरी तक)

भारत ने पाकिस्तान को 2014-15 में 63836.89 क्विंटल बीफ बेचा जिससे भारत को 38.29 करोड़ की कमाई हुई।
भारत ने पाकिस्तान को 2015-16 में 62997.90 क्विंटल बीफ बेचा जिससे भारत को 32.63 करोड़ की कमाई हुई।
भारत ने पाकिस्तान को 2016-17 में 75655.40 क्विंटल बीफ बेचा जिससे भारत को 42.18 करोड़ की कमाई हुई।
भारत ने पाकिस्तान को 2017-18 में 90460.20 क्विंटल बीफ बेचा जिससे भारत को 54.57 करोड़ की कमाई हुई।

तो आंकड़े से साफ हो चुका है कि कौन गोवंश बचाता है और कौन काटता है।

पीएम मोदी ने कहा था उनके खून में व्यापार है। मोदी सरकार अपने नागरिकों से बीफ छीन कर दूसरे देशों को बेच रही है। इसका पूरा फायदा इस व्यापार में लगे बड़े उद्योगपतियों को हो रहा है।

देश का व्यापार बढ़ना चाहिए, इसमें कोई खराबी नहीं है। लेकिन व्यापार बढ़ाने के लिए देश को साम्प्रदायिक्ता के आगे में झोकना जरूरी नहीं है, व्यापार बढ़ाने के लिए अल्पसंख्यकों के लिए नफरत फैलाने की जरूर नहीं है, व्यापार बढ़ाने के लिए लोगों से खाने की आजादी छीनने की जरूरत नहीं है।

Courtesy: boltaup

Categories: India

Related Articles