SP-BSP मिलकर लड़ेंगे 2019 का लोकसभा चुनाव, मायावती ने किया ऐलान

SP-BSP मिलकर लड़ेंगे 2019 का लोकसभा चुनाव, मायावती ने किया ऐलान

मायावती ने ऐलान कर दिया है कि 2019 में समाजवादी पार्टी और बीएसपी मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। सीटों काबंटवारा अभी नहीं हुआ है, लेकिन समय आने पर इसका भी फैसला हो जाएगा।

उत्तर प्रदेश में लोकसभा की दो सीटों के उपचुनाव में एसपी-बीएसपी ने मिलकर चुनाव लड़ा और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनके डिप्टी केशव प्रसाद मौर्य को उनके गढ़ गोरखपुर और फूलपुर में धूल चटा दी। इस नए राजनीतिक गठबंधन से बीजेपी की न सिर्फ छीछालेदार हुई बल्कि उसकी नींद भी उड़ी हुई है। और अब बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने ऐलान कर दिया कि अगला लोकसभा चुनाव भी दोनों पार्टियां यानी एसपी-बीएसपी मिलकर ही लड़ेंगी।दलित राजनीति का सबसे मजबूत चेहरा मानी जाने वाली मायावती ने कर्नाटक में कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव एसपी-बीएसपी साथ मिलकर लड़ेंगी, इसमें कोई शक नहीं है। उन्होंने कहा कि सीटों का बंटवारा अभी होना बाकी है, जो समय आने पर कर लिया जाएगा।मायावती कर्नाटक में जनता दल (सेक्यूलर) के समर्थन में एक रैली को संबोधित करने के लिए कर्नाटक में थीं और वहीं उन्होंने न्यूज चैनल एनडीटीवी से बातचीत की। मायावती ने कहा कि एसपी-बीएसपी गठबंधन से बीजेपी बौखला गई है। उन्होंने कहा कि, “धर्मनिरपेक्ष ताकतों के गठजोड़ से बीजेपी और आरएसएस डर गई हैं। सांप्रदायिक ताकतें नहीं चाहतीं कि धर्मनिरपेक्ष ताकतें इकट्ठा हों और आगे बढ़ें।”जब उनसे सवाल किया गया कि बीएसपी और समाजवादी पार्टी के गठबंधन का ऐलान कब होगा, तो उनका जवाब था कि लोकसभा चुनावों में अभी थोड़ वक्त है, जैसे ही चुनाव नजदीक आएंगे, वैसे ही दोनों पार्टियां सीटों का बंटवारा कर गठबंधन का औपचारिक ऐलान कर देंगी।

इस दौरान वहां मौजूद जनता दल (सेक्यूलर) के नेताओं ने मायावती को गैर-कांग्रेस और गैर-बीजेपी तीसरे मोर्चे की तरफ से पीएम पद का दावेदार तक बता दिया। जेडीएस नेता दानिश अली ने कहा कि, “बहनजी’ ही ऐसी नेता हैं जो पूरे देश मेंराजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि अगले लोकसभा चुनावों में अगर एसपी और बीएसपी साथ आ जाते हैं तो बीजेपी की राह बेहद मुश्किल हो जाएगी। उत्तर प्रदेश की इन दोनों पार्टियां के गठबंधन की ताकत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अकेले उत्तर प्रदेश से 80 सासंद चुनकर लोकसभा जाते हैं। हालांकि हाला में हुए राज्यसभा चुनावों में बीएसपी उम्मीदवार की हार के बाद चर्चा उठी थी कि एसपी-बीएसपी गठबंधन में दरार आ गई है, लेकिन मायावती के इस बयान से इन चर्चाओं पर विराम लग गया है।Courtesy: NND

Categories: India

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*