नमाज़ पर मनोहरलाल खट्टर के बयान पर कैप्टन अमरिंदर सिंह भड़के, कहा – इस तरह…

नमाज़ पर मनोहरलाल खट्टर के बयान पर कैप्टन अमरिंदर सिंह भड़के, कहा – इस तरह…

गुड़गाँव में गैर प्रांत कामगार मुसलमानों की एक अनुमानित तादाद करीब चार से पांच लाख है. लेकिन वे सभी गुड़गाँव के बाहर से आए हुए जिन्हें नमाज़ के लिए पार्क या सरकारी जगहों का इस्तेमाल करना पड़ता है.

सरकार तथा प्रशासन कट्टरपंथी ताकतों के दबाव में जुमा की नमाज़ बंद करवाने को प्रयासरत है. पिछले जुमे ही तकरीबन पांच जगहों पर नमाज़ रोक दी गई थी.

सबसे शर्मनाक बात यह रही कि इसके बाद खुद सीएम खट्टर ने ऐसा बयान दिया, जो कहीं न कहीं ऐसे दंगाइयों का समर्थन कर रहा था. उन्होंने कहा था कि मुसलमानों को खुले में नमाज़ नहीं पढ़ना चाहिए.

हालाँकि उन्होंने आगे यह भी कहा था कि किसी को भी कानून को अपने हाथ में लेने की ज़रुरत नहीं है और कानून व्यवस्था बनाये रखने की ज़िम्मेदारी सरकार की है.

हालाँकि उनके इस बयान के बाद उनकी खूब आलोचना हुई थी. इस बीच अब पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उनके इस बयान पर करारा निशाना साधा है.उन्होंने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी देश में साम्प्रदायिक तनाव पैदा करने का प्रयास कर रही है.

उन्होंने आगे कहा है कि भारत एक गणराज्य है तथा इसका संविधान है.ऐसे में खट्टर तो क्या किसी अन्य को भी लोगों को यह बताने का अधिकार नहीं है कि उन्हें उनकी धार्मिक गतिविधियां कहां और कहां नहीं करनी चाहिए.उन्होंने कहा कि खट्टर ने यह बयान कर्नाटक विधानसभा चुनावों में मतदाताओं के ध्रुवीकरण के मद्देनज़र दिया है.

Courtesy: openkhabar.

Categories: India

Related Articles