दिग्विजय सिंह की बात सुन पिघल गया नितीश कुमार, बिहार में भी कांग्रेस….

दिग्विजय सिंह की बात सुन पिघल गया नितीश कुमार, बिहार में भी कांग्रेस….

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कर्नाटक में कांग्रेस जेडीएस को सरकार बनाने का मौका ना मिले जाने पर गुस्सा जाहिर किया है। उन्होंने इस मामले पर सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर कुछ ऐसे ट्वीट किए हैं, जिससे साफ़ जाहिर हो रहा है की दिग्विजय कर्नाटक के राज्यपाल के पक्षपाती रवैये से कितना खफा हैं।

 

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एक के बाद 9 ट्वीट करके भाजपा पर हमला बोला है। उन्होंने कर्नाटक चुनाव के बाद चले पूरे घटनाक्रम पर कई सवाल खड़े किए हैं।

भाजपा को सिर्फ पैसे और सत्ता से मतलब

 

दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा है कि भाजपा के लिए न संविधान न नियम न क़ानून न देश हित। उन्हें केवल चाहिए पैसे से सत्ता और सत्ता से पैसा। बाकि सब जाए भाड़ में. लेकिन हम अब लड़ेंगे, हर तरह से। लोकतंत्र की खातिर, देश की खातिर और संविधान की खातिर।

नीतीश कुमार पर भड़के दिग्विजय सिंह

 

इसके साथ उन्होंने कांग्रेस और जेडीएस के नेताओं को कर्नाटक में भाजपा के खिलाफ जंग जीतने के लिए बधाई भी दी है। उन्होंने कहा है की अब कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन में आकर मजबूत और साफ़-सुथरी सरकार बनाएगी। जिससे राज्य की जनता भी खुश रहेगी। कर्नाटक की बात करते हुए दिग्विजय सिंह ने बिहार का मुद्दा भी उठाया है।

नीतीश जी, बिहार में आरजेडी-कांग्रेस की सरकार बनाइये

 

उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भाजपा का साथ छोड़ने की अपील कर डाली है। कांग्रेस का यह भी कहना है कि कई राज्यों में भी ऐसी ही स्थिति है, उन्हें भी टूटकर बड़े दल को सरकार बनवाना चाहिए। दिग्विजय सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नितिश कुमार पर भी निशाना साधते हुए कहा है कि नीतीश जी जरा सोचिए यदि जय प्रकाश नारायण जी आज होते तो क्या भाजपा व मोदी जी ने जो कुछ कर्नाटक में किया उसका समर्थन करते? कभी नहीं।

अब वक़्त आ गया कि भाजपा को छोड़ कर

 

उन्होंने नीतीश से कहा कि क्या आप अब भी भाजपा के समर्थन से कुर्सी पर बना रहना पसन्द करेंगे? आपने हमेशा नैतिकता की दुहाई दी है क्या भाजपा ने जो कुछ किया है वह नैतिक है? यदि नहीं है तो आज ही भाजपा को छोड़िये और बिहार में आरजेडी- कांग्रेस की सरकार बनाने के बारे में सोचिये।

 

Courtesy: openkhabar.

Categories: India

Related Articles