पेट्रोल-डीजल की महंगाई से देश की सेहत खराब है और मोदीजी फिटनेस चैलेंज दे रहे हैं, ये शर्मनाक है : जीतू पटवारी

पेट्रोल-डीजल की महंगाई से देश की सेहत खराब है और मोदीजी फिटनेस चैलेंज दे रहे हैं, ये शर्मनाक है : जीतू पटवारी

पेट्रोल डीजल की कीमतों में लगातार गुरुवार यानी 11वें दिन भी इजाफा हुआ है। देश में अबतक का रिकॉर्ड तोड़ते हुए सबसे ज्यादा महंगा पेट्रोल बिक रहा है। गुरुवार के दिन दिल्ली में पेट्रोल 77.47  और मुंबई में 85.29 रुपए प्रति लीटर बिका। ऐसी उम्मीद जताई जा रही थी की मोदी सरकार तेल के दामों में हुई तेजी को कुछ कम करेगी मगर, आज भी ऐसा हुआ नहीं।

पेट्रोल डीजल की कीमतों पर तमाम प्रतिक्रियाओं के बाद मध्य प्रदेश के कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने पीएम मोदी के फिटनेस चैलेंज पर प्रतिक्रिया देते हुए सोशल मीडिया साईट ट्विटर पर कहा कि “पूरे देश में डीजल-पेट्रोल के बढते दामों से त्राहि-त्राहि मची हुई है और मोदी जी फ़िटनेस चैलेंज पर ट्वीट कर रहे हैं।“

उन्होंने आगे कहा कि “जनता डीजल-पेट्रोल के दाम घटाने की गुहार कहाँ लगाए? अब मोदी ने आँख और कान बंद कर लिए हैं, केवल मुँह खुला है। भाषण खाईए, आँसू पीजिए और सो जाईए।“

पेट्रोल डीजल की कीमतों को कम करने की उम्मीद पर रही सही कसर मोदी सरकार के दो मंत्रियों ने ख़त्म कर दी है। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद और सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने साफ़ कह दिया है कि अगर पेट्रोल के दाम कम हुए तो सरकार के विकास रथ पर लगाम लग जाएगी।

वहीं, डीजल की कीमतों में लगातार इजाफे के बाद अब इसका असर दिखने लगा है। पेट्रोल डीजल की रिकॉर्ड बढ़ी दरों के कारण महंगाई ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है।

ट्रांसपोर्ट से जुडी संस्था इंडियन फाउंडेशन ऑफ ट्रांसपोर्ट रिसर्च एंड ट्रेनिंग के रिसर्च के मुताबिक डीजल महंगा होने से माल भाड़े में 3% का इजाफा हुआ है। बता दें कि आने वाले समय में माल भाड़ा और भी बढ़ सकता है।

 

Courtesy: Boltaup

Categories: India

Related Articles